plane hijack
plane hijack

ढाका/दक्षिण भारत। बांग्लादेश में रविवार को एक विमान के अपहरण की कोशिश नाकाम कर दी गई। जानकारी के अनुसार, ‘बिमान बीजी-147’  का उस समय अपहरण करने की कोशिश की गई जब वह राजधानी ढाका से दुबई जा रहा था। इस विमान ने ढाका से उड़ान भरी थी कि करीब आधे घंटे बाद एक पिस्टलधारी शख्स कॉकपिट में दाखिल हो गया।बाद में सुरक्षाबलों ने उसे मार गिराया।

विमान के अपहरण की जानकारी से सभी यात्री सहम गए। इसके बाद चिटगांव के शाह अमानत हवाईअड्डे पर विमान की इमर्जेंसी लैंडिंग हुई। अब तक संबंधित एजेंसियों को पायलट के जरिए इसकी सूचना मिल चुकी थी। सुरक्षाकर्मियों ने इस विमान को घेर लिया था। फिर सभी 148 यात्रियों को इससे निकाला गया। पिस्टलधारी को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया।

जब वह इसके लिए राजी नहीं हुआ और पलटवार की कोशिश करने लगा तो सेना के कमांडो ने उसे ढेर कर दिया। बांग्लादेश सेना के मेजर जनरल मोतीउर्रहमान ने इसकी पुष्टि की। इस पूरी कार्रवाई में सिर्फ आठ मिनट लगे। उन्होंने बताया कि हम किसी समझौते का जोखिम नहीं ले सकते थे। हमारे कमांडो को तुरंत जवाब देना था। उन्होंने बताया कि इस शख्स की उम्र करीब 25 साल थी। वह आक्रामक पोजिशन में था। हमारे पास उसे मार गिराने के अलावा और कोई उपाय नहीं था।

bangladesh army commando
bangladesh army commando

द डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, इस शख्स की पहचान महदी के तौर पर हुई है, जो बांग्लादेशी नागरिक था। अचानक विमान अपहरण की सूचना मिलने से सुरक्षाबलों ने तुरंत मोर्चा संभाला। अधिकारियों ने बताया कि उनके पास इस बचाव अभियान को नाम देने का भी समय नहीं था।

जब इस विमान ने ढाका से उड़ान भरी तो सबकुछ सामान्य लग रहा था, लेकिन अचानक जब पिस्टलधारी शख्स सामने आया तो यात्रियों में दहशत फैल गई। विमान शाम 5.15 बजे (स्थानीय समय) चिटगांव हवाई अड्डे पर उतरा। पिस्टलधारी ने यह भी दावा किया कि उसके पास आत्मघाती धमाका करने की सामग्री है। उसने प्रधानमंत्री शेख हसीना से बात कराने की मांग की। साथ ही धमकी देकर क्रू सदस्यों को बंधक बना लिया। आखिरकार सुरक्षाबलों को उसे ढेर करना पड़ा।किसी भी यात्री, क्रू सदस्य और सुरक्षाकर्मी के घायल होने के समाचार नहीं हैं।

LEAVE A REPLY