pm narendra modi
pm narendra modi

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर आतंकी हमले के बाद देशभर में गहरा आक्रोश है। सोशल मीडिया पर लाखों की तादाद में लोग शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। साथ ही पाकिस्तान और उसके आतंकी तत्वों को कठोर दंड देने की मांग कर रहे हैं। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर सुरक्षा से जुड़े मामलों की कैबिनेट कमेटी (सीसीएस) की बैठक हुई। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के साथ गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, अरुण जेटली, एनएसए अजीत डोवाल, आईबी के उच्च अधिकारियों के अलावा तीनों सेनाओं के अध्यक्ष भी शामिल हुए।

बैठक के बाद मोदी ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद लोगों का खून खौल रहा है, यह मैं भली-भांति समझ रहा हूं। उन्होंने कहा कि हमारे सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दी गई है। हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है। हमले के पीछे शामिल ताकतों को इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी। जो लोग आलोचना कर रहे हैं, उनकी भावनाएं मैं अच्छी तरह से समझ रहा हूं। हमें एकजुट होकर इस लड़ाई में जुटना होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस समय बड़ी आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहे हमारे पड़ोसी देश को यह भी लगता है कि वो ऐसी तबाही मचाकर भारत को बदहाल कर सकता है। उसके ये मंसूबे भी कभी पूरे नहीं होंगे। 130 करोड़ हिंदुस्तानी ऐसी हर साजिश, ऐसे हर हमले का मुंहतोड़ जवाब देंगे।वक्त ने सिद्ध कर दिया है कि जिस रास्ते पर वे (पाकिस्तान) चले हैं, वो तबाही का रास्ता है। हमने जिस रास्ते को चुना है, वो हर पल तरक्की किए जा रहा है।

मोदी ने कहा कि मैं आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर गए हैं। मैं देश को भरोसा देता हूं कि हमले के पीछे जो ताकतें हैं, इस हमले के जो भी गुनहगार हैं, उन्हें उनके किए की सज़ा अवश्य मिलेगी। उन्होंने कहा कि मेरा सभी साथियों से अनुरोध है कि यह बहुत ही संवेदनशील और भावुक समय है, इसलिए राजनीतिक छींटाकशी से दूर रहें। इस हमले का देश एकजुट होकर मुकाबला कर रहा है। उन्होंने कहा कि मैं सभी वीर शहीदों की आत्मा को नमन करते हुए एक बार फिर विश्वास दिलाता हूं कि जिन सपनों के लिए उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी है, उसे पूरा करने का काम हम हर हाल में करेंगे।

मोदी ने कहा कि देश का एक स्वर अब विश्व में सुनाई देना चाहिए, क्योंकि लड़ाई हम जीतने के लिए लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर यह समझता है कि जैसे घृणित कृत्य वह कर रहा है और जिस तरह की साजिशें रच रहा है, उससे हमारे देश में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वह बहुत बड़ी भूल कर रहा है। मोदी ने ​कहा कि कई बड़े देशों ने बहुत ही सख्त शब्दों में इस आतंकी हमले की निंदा की है और भारत के साथ खड़े रहने की भावना जताई है। मैं सभी का आभारी हूं और आह्वान करता हूं कि आतंक के खिलाफ सभी मानवतावादी शक्तियों को लड़कर इसे परास्त करना ही होगा। प्रधानमंत्री ने आतंकी हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवारों के साथ हैं।

LEAVE A REPLY