हैंड ग्रेनेड सांकेतिक तस्वीर
हैंड ग्रेनेड सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। देश के दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए अब भारत के सुरक्षा बलों को देश में निर्मित हथियार मुहैया कराने पर खासा जोर दिया जा रहा है। इसी सिलसिले में अब सुरक्षा बलों को देश में निर्मित हैंड ग्रेनेड मिलेंगे। रक्षा मंत्रालय ने देश में बने 10 लाख मल्टी मॉडल हैंड ग्रेनेड के अधिग्रहण संबंधी परियोजना को अनुमति दे दी है।

इसके तहत मौजूदा हैंड ग्रेनेड्स को बदला जाएगा और सुरक्षा बल स्वदेशी हैंड ग्रेनेड्स से लैस होंगे। इस प्रोजेक्ट के जरिए जहां सुरक्षा बलों को अत्याधुनिक हैंड ग्रेनेड दिए जाएंगे, वहीं देश में ही हथियारों के निर्माण को लेकर बेहतर संभावनाएं उत्पन्न होंगी।

बता दें कि भारत दुनिया के सबसे बड़े हथियार आयातक देशों में से एक है। इस क्षेत्र पर बड़ी राशि खर्च की जाती है। यदि भारत स्वदेशी तकनीक के जरिए अपने लिए हथियार बनाता है तो इससे मुद्रा की बचत भी होगी। साथ ही विदेशी निर्यातकों पर निर्भरता कम होगी। हाल में एके-203 राइफल का उत्पादन करने वाली इकाई भी प्रारंभ की गई। इसमें रूस ने सहयोग किया।

LEAVE A REPLY