रामचंद्र यादव
रामचंद्र यादव

पटना/दक्षिण भारत। लोकसभा चुनाव के बाद आए एग्जिट पोल ने विपक्ष की बेचैनी बढ़ा दी। एक ओर जहां ईवीएम पर हंगामा जारी है, दूसरी ओर कुछ नेता भी शब्दों की मर्यादा भूल रहे हैं। रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा द्वारा ‘सड़कों पर खून-खराबे’ जैसी धमकियों के बाद अब एक और नेता ने विवादित टिप्पणी करते हुए कहा है कि नहीं जीते तो खून बहाएंगे।

एक वायरल वीडियो में देखा गया कि बक्सर लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी एवं पूर्व विधायक रामचंद्र यादव ने हाथ में हथियार लेकर प्रेसवार्ता की। रामचंद्र यादव ने भभुआ में अपने घर पर प्रेसवार्ता के दौरान हाथ में पिस्टल ले रखी थी।

उन्होंने आक्रामक अंदाज में कहा कि कुशवाहा और तेजस्वी के नेतृत्व में लोकतंत्र बचाऊंगा। रामचंद्र यादव ने कहा कि नतीजा पक्ष में नहीं आने पर अब लड़ना पड़ेगा, अब चुप बैठने से काम नहीं चलेगा।

उल्लेखनीय है कि रामचंद्र यादव राजद के टिकट पर विधायक रह चुके हैं। वे समाजवादी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष भी रह चुके हैं। वायरल वीडियो में रामचंद्र हथियार लहराते हुए कहते हैं कि वे लोकतंत्र और संविधान की रक्षा के लिए, लड़ने-मरने और जेल जाने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि मगर अगुवाई आपको करनी होगी। आप आदेश कीजिए, हम लड़ेंगे पूरी ताकत के साथ। उन्होंने कहा कि इसी सवाल को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने जिन बातों को रखा है, सभी नेताओं को अब एकजुट हो जाना चाहिए।

रामचंद्र यादव दो साल पहले आचार संहिता उल्लंघन मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं। उनके खिलाफ न्यायालय ने गैर-जमानती वारंट जारी कर दिया था। तब राजद कार्यकर्ताओं ने कहा था कि रामचंद्र यादव को साजिश के तहत गिरफ्तार किया गया। अब लोकसभा चुनाव में बतौर निर्दलीय प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे रामचंद्र यादव फिर सुर्खियों में आ गए हैं।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.

LEAVE A REPLY