कांग्रेस नेता विक्रमार्क
कांग्रेस नेता विक्रमार्क

हैदराबाद/भाषा। तेलंगाना में कांग्रेस के 12 विधायकों के सत्तारूढ़ टीआरएस में अवैध विलय के खिलाफ अनशन पर बैठे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम भट्टी विक्रमार्क ने पार्टी साथियों की अपील पर तीन दिन बाद अनिश्चितकालीन उपवास खत्म कर दिया।

तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने यहां पत्रकारों को बताया कि कांग्रेस विधायक दल के नेता विक्रमार्क ने यहां निम्स अस्पताल में अपना उपवास खत्म कर दिया। पुलिस ने उनकी ‘बिगड़ती तबीयत’ के मद्देनजर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था।

कांग्रेस अपने विधायकों के विलय के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रखेगी और मंगलवार को जिला कलेक्ट्रेट के सामने धरना आयोजित किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगेगी और मामला संसद में भी उठाया जाएगा।

विक्रमार्क ने यहां धरना चौक पर शनिवार को 36 घंटे का अनशन आरंभ किया था जिसे बाद में उन्होंने अनिश्चितकालीन अनशन में बदल दिया था। पुलिस ने बताया कि विक्रमार्क की तबियत बिग़डने और स्वीकृत समय से अधिक समय तक प्रदर्शन करने के मद्देनजर उन्हें निम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया।

डीसीपी पी विश्व प्रसाद ने पीटीआई भाषा से कहा, उन्होंने 36 घंटे धरना करने की अनुमति मांगी थी और उसकी अनुमति दे दी गई, लेकिन, उन्होंने स्वीकृत समय के बाद भी प्रदर्शन जारी रखा। चिकित्सकीय दल ने उनकी जांच की। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। उल्लेखनीय है कि तेलंगाना में विधानसभा अध्यक्ष पी श्रीनिवास रेड्डी ने गत बृहस्पतिवार को कांग्रेस के १२ विधायकों को टीआरएस के सदस्यों के तौर पर मान्यता दे दी थी।

LEAVE A REPLY

6 + 14 =