bjp shiv sena seat sharing
bjp shiv sena seat sharing

मुंबई/दक्षिण भारत। आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना का गठबंधन बरकरार रहेगा। इसके लिए सोमवार को दोनों पार्टियों की ओर से प्रेसवार्ता कर जानकारी दी गई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि लोकसभा चुनाव में राज्य की 25 सीटों पर भाजपा और 23 सीटों पर शिवसेना चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि दोनों पार्टियों के बीच कुछ मामलों पर मतभेद हुए, लेकिन मूल विचार हिंदुत्व है।

फडणवीस ने बताया कि विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां बराबर संख्या में सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। गौरतलब है ​कि सोमवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मुलाकात हुई थी, जिसमें इस गठबंधन पर सहमति बन गई। साझा प्रेसवार्ता में भी दोनों नेता मौजूद थे। देंवेंद्र फडणवीस ने दोनों पार्टियों के बीच पिछले ढाई दशक के रिश्तों का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में साथ नहीं आए, लेकिन इसके बावजूद साथ में सरकार चलाई है। उन्होंने कहा कि जनभावना का आदर करके दोनों दल साथ आए हैं।

फडणवीस ने कहा कि देश और समाजहित में एक बार फिर चुनौती का सामना करेंगे। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भगवान राम के मंदिर निर्माण पर भी दोनों दलों की समान राय है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमारे मन साफ हैं। जब पहले हमारी सरकार अटलजी के नेतृत्व में बनी थी, तब भी शिवसेना ने राम मंदिर का मुद्दा उठाया था। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की तारीफ की। उन्होंने कहा कि हम एकजुट होकर चुनाव लड़ेंगे। अगर आपस में ही लड़ते रहें तो उनके हाथ में सत्ता सौंप देंगे जिनके खिलाफ पिछले 50 साल से लड़े।

अमित शाह ने ने इस गठबंधन पर खुशी जताते हुए कहा कि दोनों पार्टियां मतभेदों को भूलकर आगे बढ़ रही हैं। हम दोनों कई मुद्दों पर साथ आगे बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि आगामी चुनावों में हम विजयी बनेंगे। शाह ने उम्मीद जताई कि दोनों पार्टियां राज्य में 45 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेंगी।

LEAVE A REPLY