उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनसभा को संबोधित करते हुए।
उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनसभा को संबोधित करते हुए।

बारासात/दक्षिण भारत। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के बारासात में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस पर खूब हमला बोला। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुए बवाल ने बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की एक्सपायरी डेट लिख दी। उन्होंने कहा कि 23 मई के बाद तृणमूल के गुंडों को सिर छिपाने की जगह नहीं मिलेगी।

बता दें कि योगी आदित्यनाथ की हावड़ा और कोलकाता में भी जनसभाएं होनी थीं, लेकिन उन्हें रद्द कर दिया गया। बारासात में प्रदेश की तृणमूल सरकार पर बरसते हुए योगी ने कहा कि ममता की सरकार गुंडों को आश्रय देती है। इसकी एक्सपायरी डेट बंगाल की जनता लिखने जा रही है। उन्होंने कहा कि अमित शाह के शांतिपूर्वक रोड शो में जिस तरह का हमला किया है, वह लोकतंत्र के इतिहास में काले पन्ने के रूप में दर्ज हो गई है। उन्होंने कहा कि इस घटना ने तृणमूल के लिए ताबूत तैयार कर दिया है। अब 23 मई के बाद तृणमूल के गुंडों को मुंह छिपाने की जगह नहीं मिलेगी।

प्रतिमा लगाते हैं, खंडित नहीं करते
समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम प्रतिमा लगाते हैं, उन्हें खंडित नहीं करते। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया कि जिन गुंडों को आपने पाला है, यह उन्हीं का काम है। योगी ने कहा कि आज बंगाल में ‘जय श्री राम’ के नारे को भी प्रतिबंधित किया जा रहा है। ममता दीदी को प्रतिबंध लगाने में महारत हासिल है।

दुर्गा पूजा और मुहर्रम
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दुर्गा पूजा को भी प्रतिबंधित करने का प्रयास किया था। दुर्गा पूजा और मुहर्रम एक साथ हो गए थे तो उन्होंने मुहर्रम का जुलूस निकलवाने के लिए दुर्गा पूजा पर रोक लगाने की बात कही। योगी ने कहा कि उप्र में भी दुर्गा पूजा और मुहर्रम एक साथ हुआ।तब अधिकारियों ने कहा, यह कैसे होगा? मैंने कहा कि पूजा का समय नहीं बदलेगा। मुहर्रम के जुलूस का समय बदल दो।

योगी ने कहा कि एक भी वारदात नहीं हुई, न तब और न पिछले दो साल में। उन्होंने कहा कि पिछले दो साल में उप्र में एक भी दंगा नहीं हुआ। वहां गुंडे या तो जेल में है या तो हमने उनकी ‘रामनाम सत्य है’ की यात्रा निकाल दी।

‘उद्दंडता करोगे, तो आखिरी जुलूस’
योगी ने दुर्गा पूजा पर कहा कि प्रशासन ने मुझे वहां भी पाठ पढ़ाने का प्रयास किया। मैंने कहा पूजा समय पर ही होगी, वह भी भव्य तरीके से होगी। आवश्यकता पड़े तो हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा भी होगी। मैंने यह भी कहा कि मुहर्रम के जुलूस पर उद्दंडता करोगे तो ये आखिरी जुलूस होगा। उन्होंने सवाल किया कि अगर उप्र में मुहर्रम और दुर्गा पूजा एक साथ हो सकती है तो कोलकाता और बारासात में क्यों नहीं?

हमने दिया सबको सम्मान
योगी आदित्यनाथ ने बंगाल को महर्षि अरविंद एवं विभिन्न महापुरुषों की धरती बताते हुए कहा कि हमारी सरकार ने किसी के बीच फर्क नहीं किया। चाहे वे मूर्तिपूजक हैं या नहीं, सबको सम्मान दिया है। उन्होंने महर्षि अरविंद के कथन का उल्लेख करते हुए कहा कि हमारी कोई जाति नहीं, हमारा कोई धर्म नहीं.. हमारा बस एक धर्म है राष्ट्र धर्म। बंगाल में राष्ट्रधर्म को रौंदने का जिस तरह का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है, क्या उस पर यहां की मुख्यमंत्री ध्यान देंगी?

पहली बार देखी ऐसी ‘तानाशाह’ सरकार
योगी आदित्यनाथ ने पुरुलिया में हेलीकॉप्टर को उतरने की इजाजत न मिलने पर कहा कि मैंने पहली बार ऐसी ‘तानाशाह’ सरकार देखी। उन्होंने कहा कि कल भी रात को इजाजत मिली। मैंने कहा, जाऊंगा जरूर चाहे कुछ भी हो जाए।

बंगाल में बनेगी राष्ट्रवादी सरकार
योगी आदित्यनाथ ने ममता बनर्जी को हताश और निराश बताते हुए कहा कि 23 मई के बाद बंगाल में भी राष्ट्रवादी सरकार बनेगी। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को ट्विटर पर भी तृणमूल कांग्रेस पर जमकर शब्दप्रहार किए। उन्होंने कहा कि तानाशाहों तक यह संदेश पहुंचे कि राम इस देश के कण-कण में हैं, स्वतंत्रता इस देश की जीवनी-शक्ति है और मैं बंगाल के क्रांतिधर्मी युयुत्सु का आह्वान कर रहा हूं। याचना नहीं, अब रण होगा। जीवन जय या कि मरण होगा!

बंगाल भारत का अभिन्न अंग
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, भाजपा से भयभीत ममता बंगाल में सभाओं के मंच तोड़कर, मजदूरों को पीटकर, रैलियां रद्द करवाकर बंगाल को क्या बनाना चाहती हैं? याद रखिए, बंगाल भारत का अभिन्न अंग है। बगदादी से प्रभावित होकर ‘बगदीदी’ बनने का आपका सपना भारत मां के सच्चे सपूत वोट की चोट से तोड़कर रहेंगे।

LEAVE A REPLY