सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

तिरुवनंतपुरम/भाषा। केरल लोक सेवा आयोग (पीएससी) की सभी परीक्षाओं में जल्द ही अंग्रेजी के साथ-साथ क्षेत्रीय भाषा मलयालम में भी प्रश्न पत्र उपलब्ध कराए जाएंगे। मुख्यमंत्री पी विजयन ने पीएससी अध्यक्ष एमके सकीर के साथ विचार-विमर्श के बाद सोमवार को यहां कहा, भर्ती करने वाली शीर्ष एजेंसी ने इस संबंध में सरकार का सुझाव स्वीकार कर लिया है।

उन्होंने कहा कि सरकार भविष्य में पीएससी प्रश्न पत्रों को कन्नड़ और तमिल में भी उपलब्ध कराने पर विचार करेगी।विजयन ने सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, सरकार ने केरल प्रशासनिक सेवा (केएएस) समेत पीएससी द्वारा आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाओं के प्रश्न पत्र मलयालम में भी उपलब्ध कराने का सुझाव दिया है। उन्होंने सैद्धांतिक रूप से इस सुझाव को स्वीकार कर लिया है और इसके लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि एजेंसी ने तकनीकी विषयों के प्रश्न पत्र मलयालम में उपलब्ध कराने में पेश आने वाली कुछ व्यावहारिक मुश्किलों के बारे में बताया है। सरकार इन मुश्किलों के समाधान खोजने में पीएससी की मदद करने के लिए विश्वविद्यालयों के कुलपतियों की बैठक बुलाएगी।

इस समय, पीएसएस की उन परीक्षाओं के प्रश्न पत्र मलयालम में उपलब्ध हैं जिनके लिए बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण उम्मीदवार पात्र हैं। मलयालम समर्थक संगठन ‘एक्य मलयालय प्रस्थानम्’ (एएमपी) के नेतृत्व में किए गए आंदोलन में एजेंसी से मलयालम में परीक्षाएं आयोजित करने की मांग की गई थी जिसके मद्देनजर मुख्यमंत्री ने पीएससी के साथ बैठक की।