मुंबई/भाषा केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा है कि केंद्र सरकार दिव्यांगों को सामाजिक एवं आर्थिक तौर पर सशक्त बनाने की कोशिश कर रही है और अधिक से अधिक निशक्तजनों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। निशक्तों के लिए राष्ट्रीय वयोश्री योजना की शुरुआत करने आए केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने जोर देकर कहा कि सरकार दिव्यांगों की सेवा तथा उनके सामाजिक उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे गुजर बसर करने वाले वरिष्ठ नागरिकों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के निदान के लिए सहायता दी जाएगी। इस योजना के तहत जो उपकरण वितरित किए जायेंगे, उनमें तिपहिया साइकिल, व्हीलचेयर, कृत्रिम अंग, श्रवणयंत्र, कैलिपर्स और छ़डी शामिल है। गहलोत ने कहा, पहले मंत्रालय को विरले ही पहचान मिलती थी, लेकिन अब इसने अपना दायरा ब़ढा लिया है। देश में अब तक दस लाख लोगों को इस योजना का फायदा मिल चुका है। अब तक सरकार ६०० करो़ड रुपये के उपकरण बांट चुकी है। उन्होंने कहा, दिव्यांगों की सेवा करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। सरकार उन लोगों को सामाजिक, शैक्षिक और आर्थिक तौर पर सशक्त बना रही है। गहलोत ने दावा किया कि मंत्रालय ने पिछले चार साल में जिस तरह से काम किया है, उससे इसके कुछ कार्यों ने एक तरह से विश्व रिकार्ड कायम किया है।

LEAVE A REPLY