मतदान कर्मी
मतदान कर्मी

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक में मंंगलवार को 14 लोकसभा सीटों के लिए दूसरे और अंतिम चरण के मतदान होने हैं। इससे पहले 14 लोकसभा सीटों के लिए पहले चरण का मतदान 18 अप्रैल को सफलतापूर्वक आयोजित किया गया था। अब दूसरे चरण में 1.22 करोड़ पुरुष, 1.20 करोड़ महिलाएं और 2022 अन्य मतदाताओं सहित 2.43 करोड़ से अधिक लोग कुल 237 उम्मीदवारों के राजनीतिक भाग्य का फैसला करेंगे।

14 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 28,022 से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए हैं और सुचारु मतदान के लिए भारी सुरक्षा व अन्य व्यवस्थाएं की गई हैं। मंगलवार को होने वाले चुनावों में बीदर, कलबुर्गी, रायचूर, बल्लारी, कोप्पल, चिक्कोड़ी, बेलगावी, उत्तर कन्नड़, धारवाड़, हावेरी, दावणगेरे, शिवमोग्गा, विजयपुरा और बागलकोट लोकसभा सीटों के प्रत्याशियों की किस्मत पर मतदाताओं की मुहर लग जाएगी।

इन सीटों पर अपनी किस्मत आजमाने के लिए चुनाव मैदान में ताल ठोंकने वाले प्रमुख उम्मीदवारों में कांग्रेस नेता एम मल्लिकार्जुन खरगे, केंद्रीय मंत्री रमेश जिगजिनगी, अनंत कुमार हेग़डे, शिवकुमार उदासी, प्रह्लाद जोशी, पीसी गद्दीगौ़डर, जीएम सिद्देश्वरा, प्रकाश हुक्केरी, भगवंत खुबा, बीवी नाइक, केपीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष ईश्वर खंद्रे, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येड्डीयुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र और अन्य शामिल हैं।

वहीं, इन सीटों पर बड़ी संख्या में निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में जोर आजमा रहे हैं और मायावती की अगुवाई वाली बसपा भी मैदान में टिकी हुई है। बहरहाल, इस सभी सीटों पर मुख्य लड़ाई भाजपा और सत्तारूढ़ कांग्रेस-जनता दल (एस) गठबंधन के उम्मीदवारों के बीच होने की उम्मीद है।

गठबंधन के घटक दलों द्वारा मैदान में उतारी गईं महिला उम्मीदवार वीना काशपन्नवर (बागलकोट) और सुनीता चव्हाण (विजयपुरा) क्रमश: पीसी गद्दीगौ़डर और रमेश जिगजिनगी के खिलाफ चुनाव लड़कर अपने राजनीतिक भाग्य का परीक्षण कर रही हैं। इन 14 लोकसभा सीटों में से 11 पर भाजपा ने अपने 11 मौजूदा सांसदों को मैदान में उतारा है।

LEAVE A REPLY