प्रज्ज्वल को निलंबित करने के जद (एस) के फैसले का भाजपा ने स्वागत किया, कांग्रेस पर हमला भी बोला

प्रज्ज्वल पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के पोते और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के भतीजे हैं

प्रज्ज्वल को निलंबित करने के जद (एस) के फैसले का भाजपा ने स्वागत किया, कांग्रेस पर हमला भी बोला

जद (एस) ने प्रज्ज्वल रेवन्ना को यौन शोषण के आरोप में निलंबित कर दिया

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। भाजपा ने यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे सांसद प्रज्ज्वल रेवन्ना को निलंबित करने के लिए मंगलवार को जद (एस) के फैसले का स्वागत किया। उसने कांग्रेस पर जवाबी हमला भी किया। 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अन्य शीर्ष भाजपा नेताओं ने कर्नाटक में कांग्रेस सरकार से सवाल किया कि जब कानून और व्यवस्था राज्य का विषय है तो उसने प्रज्ज्वल के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की?

बता दें कि पुलिस ने घर में काम करने वाली एक महिला की शिकायत के आधार पर रविवार को प्रज्ज्वल रेवन्ना और उनके पिता एचडी रेवन्ना पर यौन उत्पीड़न और आपराधिक धमकी के आरोप में मामला दर्ज किया था।

प्रज्ज्वल पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के पोते और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के भतीजे हैं।

जद (एस) ने मंगलवार को प्रज्ज्वल रेवन्ना को यौन शोषण के आरोप में निलंबित कर दिया।

प्रज्ज्वल (33) हासन लोकसभा सीट से भाजपा-जद (एस) गठबंधन के उम्मीदवार हैं, जहां 26 अप्रैल को मतदान हुआ था।

जद (एस) कोर कमेटी के अध्यक्ष जीटी देवेगौड़ा ने संवाददाताओं से कहा, 'हम प्रज्ज्वल रेवन्ना के खिलाफ एसआईटी का स्वागत करते हैं। हमने अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से एसआईटी जांच पूरी होने तक उन्हें पार्टी से निलंबित करने की सिफारिश करने का फैसला किया है।'

कथित तौर पर प्रज्ज्वल रेवन्ना से जुड़े कुछ वीडियो क्लिप हाल ही में हासन में प्रसारित होने लगे थे। राज्य सरकार ने सांसद से जुड़े कथित स्कैंडल की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है।

कोर कमेटी की बैठक में राज्य जद (एस) अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी और अन्य सदस्य शामिल हुए। कुमारस्वामी ने कहा कि प्रज्ज्वल को निलंबित करने का निर्णय लिया गया है और निलंबन की अवधि एसआईटी जांच रिपोर्ट और उस पर सरकार की कार्रवाई पर आधारित है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News