मंटो एक सच्चे इंसान थे, लेकिन मैं बहुत झूठ बोलता हूं : नवाजुद्दीन सिद्दीकी

मंटो एक सच्चे इंसान थे, लेकिन मैं बहुत झूठ बोलता हूं : नवाजुद्दीन सिद्दीकी

जयपुर। गुलाबी शहर जयपुर में इन दिनों शब्दों का बहुरंगी संसार सजा हुआ है। डिग्गी पैलेस में आयोजित जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के ११वें संस्करण का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान जयपुराइट्स देश-विदेश के शब्दों के जादूगरों से रूबरू हो रहे हैं। जेएलएफ के दूसरे दिन नवाजुद्दीन सिद्दकी, अनुराग कश्यप, विशाल भारद्वाज, नंदिता दास और वीणा त्रिपाठी जैसे बॉलीवुड स्टार्स ने शिरकत की।इस दौरान फिल्म अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी का ’’मन्टो- द मैन एंड द लीजेंड’’ सत्र खास रहा। सत्र में नवाजुद्दीन सिद्दकी और नंदिता दास से पत्रकार विनोद दुआ ने चर्चा की। इस दौरान स्टूडेंट्स और युवाओं में नवाज को सुनने का काफी उत्साह नजर आया। नवाजुद्दीन ने मंटो नामा को अपने अंदाज में पेश किया।नवाज ने हाल ही मंटो की कहानी पर आधारित फिल्म में मुख्य किरदार निभाया है, जिसका निर्माण नंदिता दास ने किया है। इसके साथ ही नवाजुद्दीन मंटो की कहानियों पर कई थिएटर प्ले भी कर चुके हैं। इस दौरान नवाज ने कहा कि मंटो एक सच्चे इंसान थे, लेकिन मैं तो बहुत झूठ बोलता हूं। उन्होंने कहा कि मैं एक छोटे से गांव का हूं। जब मुम्बई पहुंचा तो मुम्बई ने झूठ बोलना सीखा दिया है क्योकि यहां लोग बनावटी नजर आते है और यहां रहते रहते मैं भी ऐसा ही हो गया। इसके साथ ही नवाज ने ऐतिसाहिक फिल्म मुगल-ए-आजम के दिलीप कुमार का किरदार निभाने की इच्छा जताई।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List