गरीबों की सेवा को सर्वाेच्च लक्ष्य बनाकर भाजपा सरकार ने सही मायने में उन्हें सशक्त बनायाः मोदी

प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के चिक्काबल्लापुर में श्री मधुसूदन साई इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च का उद्घाटन किया

गरीबों की सेवा को सर्वाेच्च लक्ष्य बनाकर भाजपा सरकार ने सही मायने में उन्हें सशक्त बनायाः मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव में देश ने विकसित होने का संकल्प लिया है

चिक्काबल्लापुर/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कर्नाटक के  चिक्काबल्लापुर में श्री मधुसूदन साई इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि चिक्काबल्लापुर आधुनिक भारत के आर्किटेक्ट में से एक सर एम विश्वेश्वरैया की जन्मभूमि है। अभी मुझे सर विश्वेश्वरैया की समाधि पर पुष्पांजलि का सौभाग्य मिला। इस पुण्य भूमि को मैं सिर झुका प्रणाम करता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव में देश ने विकसित होने का संकल्प लिया है। कई बार लोग पूछते हैं कि भारत कैसे विकसित बनेगा? इतनी चुनौतियां हैं, इतना काम है, इतने कम समय में पूरा कैसे होगा? इस सवाल का जवाब है- सबका प्रयास। हर देशवासी के साझा प्रयासों से ये संभव होने वाला है। बीते नौ वर्षों में भारत में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बहुत ईमानदारी से, बहुत कुशलता से कार्य करने का प्रयास किया गया है। देश में चिकित्सा शिक्षा से जुड़े अनेक सुधार किए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार बेटियों को ऐसा जीवन देने में जुटी है, जिससे वे भी स्वस्थ रहें और आने वाली संतान भी स्वस्थ रहे। आरोग्य के साथ-साथ माताओं, बहनों, बेटियों के आर्थिक सशक्तीकरण पर भी डबल इंजन सरकार का पूरा ध्यान है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सामूहिक प्रयास भारत के विकास की दिशा में चमत्कारिक परिणाम ला सकते हैं। भाजपा जन भागीदारी पर ध्यान केंद्रित कर रही है। भारत की विकास यात्रा में सामाजिक और धार्मिक संगठनों की बड़ी भूमिका है। संबद्ध संगठनों ने न केवल धर्म और आस्था के संदेश को फैलाने में मदद की है, बल्कि गरीबों, पिछड़ों, आदिवासियों और समाज के अन्य वर्गों को भी सशक्त बनाया है। विशेष रूप से, कर्नाटक ऋषियों, आश्रमों, मठों की समृद्ध भूमि रही है। ये प्राचीन परंपराएं यहां बहुत जीवंत हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दशकों से गरीबों को सिर्फ वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया जाता रहा है, लेकिन गरीबों की सेवा को अपना सर्वाेच्च और प्राथमिक लक्ष्य बनाकर भाजपा सरकार ने सही मायने में उन्हें सशक्त बनाया है। हमारी गरीब समर्थक सरकार ने शिक्षा के माध्यम से लोगों को सशक्त बनाने के लिए बहुत कुछ किया है। चिकित्सा शिक्षा अब कन्नड़ सहित सभी भारतीय भाषाओं में उपलब्ध कराई गई है।

हमने गुणवत्तापूर्ण और सस्ती चिकित्सा सुविधाओं के माध्यम से गरीब और मध्यम वर्ग को सशक्त बनाने का काम किया है। हमारे देश में लगभग 10,000 औषधि केंद्र हैं, और उनमें से 1,000 से अधिक कर्नाटक में ही हैं।

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement