हर मां-बाप अपने बच्चों का सही मूल्यांकन करें, उनमें हीन भावना न आने दें: मोदी

प्रधानमंत्री ने 'परीक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम में संवाद किया

हर मां-बाप अपने बच्चों का सही मूल्यांकन करें, उनमें हीन भावना न आने दें: मोदी

'आदतन आलोचना करने वालों पर ध्यान मत दीजिए'

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को 'परीक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम में विद्यार्थियों, उनके अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आप अच्छा करेंगे तो भी हर कोई आप से नई अपेक्षा करेगा। चारों तरफ से दबाव होता है लेकिन क्या हमें इस दबाव से दबना चाहिए? ऐसे ही आप भी यदि अपनी एक्टिविटी पर फोकस रहते हैं तो आप भी ऐसे संकट से बाहर आ जाएंगे। कभी भी दबाव के दबाव में न रहें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केवल परीक्षा के लिए ही नहीं, हमें अपने जीवन में हर स्तर पर टाइम मैनेजमेंट को लेकर जागरूक रहना चाहिए। आप ऐसा स्लैब बनाइए कि जो आपको कम पसंद विषय है, उसको पहले समय दीजिए। उसके बाद उस विषय को समय दीजिए, जो आपको पसंद है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि छात्र यह बात समझ कर चलें कि अब ज़िंदगी और जगत बहुत बदल चुका है। आज आपको डगर-डगर पर परीक्षा देनी है, इसलिए जो नकल करने वाला है, वो एक-दो एग्जाम तो पार कर जाएगा, लेकिन ज़िंदगी कभी पार नहीं कर पाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो मेहनती विद्यार्थी है, उसकी मेहनत उसकी जिंदगी में अवश्य ही रंग लाएगी। हो सकता है कि कोई नकल कर आपसे दो-चार नंबर ज्यादा ले जाएगा, लेकिन वो कभी भी आपकी ज़िंदगी की रुकावट नहीं बन पाएगा। आपके भीतर की ताकत ही आपको आगे ले जाएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले काम को समझिए। हमें भी जिस चीज की जरूरत है, उसी पर फोकस करना चाहिए। अगर मुझे कुछ अचीव करना है तो स्पेसिफिक एरिया पर फोकस करना होगा, तभी परिणाम मिलेगा। हमें 'स्मार्टली हार्डवर्क' करना चाहिए, तभी अच्छे परिणाम मिलेंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब एक बार आप इस सत्य को स्वीकार कर लेते हैं कि मेरी एक क्षमता है और मुझे अब इसके अनुकूल चीजों को करना है। आप जिस दिन अपनी सामर्थ्य को जान जाते हैं, उस दिन बहुत बड़े सामर्थ्यवान बन जाते हैं। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि हर मां-बाप अपने बच्चों का सही मूल्यांकन करें और बच्चों के भीतर हीन भावना न आने दें। आदतन आलोचना करने वालों पर ध्यान मत दीजिए। हमें अपना फोकस कभी छोड़ना नहीं चाहिए। मां-बाप से भी मेरा आग्रह है कि टोका-टोकी के जरिए अपने बच्चों को 'मोल्ड' नहीं कर सकते। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि सबसे पहले तो आपको यह निर्णय करना है कि आप स्मार्ट हैं या गैजेट स्मार्ट हैं। कभी-कभी आप खुद से ज्यादा स्मार्ट अपने गैजेट को मान लेते हैं और गलती वहीं से शुरू होती है। आप जितना स्मार्टली गैजेट का इस्तेमाल करेंगे, उतने ही अच्छे परिणाम मिलेंगे। परिवार के लोगों को बहुत अपेक्षाएं होना बहुत स्वाभाविक है और उसमें कोई गलत भी नहीं है, लेकिन अगर परिवार के लोग अपेक्षाएं सोशल स्टेटस के कारण कर रहे हैं तो वो चिंता का विषय है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम दिन-रात कॉम्पिटिशन के भाव में जीते हैं। हम अपने लिए जिएं, अपने में जिएं, अपनों से सीखते हुए जिएं। सीखना सबसे चाहिए, लेकिन अपने भीतर की सामर्थ्य पर भी बल देना चाहिए। एक एग्जाम के कारण जीवन एक स्टेशन पर रुकता नहीं है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया की सबसे पुरातन भाषा जिस देश के पास हो, उस देश को गर्व होना चाहिए। यूएन में मैंने जान-बूझकर तमिल भाषा से जुड़ीं कुछ बातें बताईं, क्योंकि मैं दुनिया को यह दिखलाना चाहता था कि दुनिया की सबसे पुरानी भाषा हमारे पास है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आपके भीतर की ताकत ही आपको आगे ले जाएगी, हमें शॉर्टकट की ओर नहीं जाना चाहिए। हमारे शिक्षक विद्यार्थियों के साथ जितना अपनापन बढ़ाएंगे, उतना बेहतर होगा। जब विद्यार्थी आपसे सवाल करता है तो उसका लक्ष्य आपके ज्ञान को परखना नहीं है। विद्यार्थी की जिज्ञासा ही उसकी बहुत बड़ी अमानत है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज भी हमारे छात्र अपने टीचर की बात को बहुत मूल्यवान समझता है। हमें डंडा लेकर डिसिप्लिन वाला रास्ता न चुन कर अपनेपन का रास्ता चुनना चाहिए। अपनेपन का रास्ता चुनेंगे तभी लाभ होगा।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेट्रो सेवा को नहीं हो रहा कोई नुकसान...', शिवकुमार ने क्यों​ किया 'शक्ति योजना' का जिक्र? 'मेट्रो सेवा को नहीं हो रहा कोई नुकसान...', शिवकुमार ने क्यों​ किया 'शक्ति योजना' का जिक्र?
Photo: DKShivakumar.official FB page
इंडि गठबंधन वाले हैं घोटालेबाजों की जमात, इन्हें किसी भी कीमत पर सत्ता चाहिए: मोदी
देवराजे गौड़ा के आरोपों पर बोले शिवकुमार- केवल पेन-ड्राइव के बारे में चर्चा कर रहे हैं ...
वीडियो ने साबित कर दिया कि स्वाति मालीवाल के सभी आरोप झूठे थे: आप
इंडि गठबंधन ने बुलडोजर संबंधी टिप्पणी के लिए मोदी की आलोचना की, कहा- धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा करेंगे
मोदी के तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने पर भारत तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा: नड्डा
मालीवाल मामले में दिल्ली पुलिस ने विभव कुमार को गिरफ्तार किया