उप्र: बसपा अकेले लड़ेगी विधानसभा उपचुनाव, 12 उम्मीदवारों का ऐलान

उप्र: बसपा अकेले लड़ेगी विधानसभा उपचुनाव, 12 उम्मीदवारों का ऐलान

बसपा प्रमुख मायावती

लखनऊ/भाषा। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी ने अकेले उतरने का फैसला करते हुए राज्य की 13 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए पार्टी ने 12 उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया है। बसपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने प्रदेश की 13 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए 12 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की है। हालांकि, इस साल मई में संपन्न आम चुनाव में बसपा ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया था।

पार्टी सूत्रों के अनुसार जिन उम्मीदवारों की घोषणा की गयी है उनमें नौशाद अली (हमीरपुर), जुबैर मसूद खान (रामपुर सदर), अभय कुमार (इगलास) रमेश चन्द्र (बल्हा) सुनील कुमार चित्तौड़ (टुंडला) अरुण द्विवेदी (लखनऊ कैंट), देवी प्रसाद तिवारी (गोविंद नगर), राजनारायण (मणिकपुर) रनजीत सिंह पटेल (प्रतापगढ़ सदर), अखिलेश कुमार अंबेडकर (जैदपुर), राकेश पांडेय (जलालपुर) तथा अब्दुल कय्यूम (घोसी) शामिल हैं।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि बसपा ने एक अन्य बचे सीट गंगोह से अभी प्रत्याशी के नाम का ऐलान नहीं किया है। उल्लेखनीय है कि इनमें से अधिकतर सीटें वे हैं, जहां के विधायक इसी साल मई में हुए लोकसभा चुनाव में जीत कर सांसद बन गए हैं। राज्य में 13 विधानसभा क्षेत्रों में से एक हमीरपुर सीट पर 23 सितंबर को उपचुनाव कराया जाएगा जबकि अन्य सीटों पर उपचुनाव की घोषणा चुनाव आयोग द्वारा अभी तक नही की गई है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ऐसा लगता है कि कांग्रेस ने भ्रष्टाचार में पीएचडी कर ली: मोदी ऐसा लगता है कि कांग्रेस ने भ्रष्टाचार में पीएचडी कर ली: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि अब कांग्रेस के साथ एक और 'भ्रष्टाचारी पार्टी' जुड़ गई है
मोदी का रॉक मेमोरियल दौरा: भाजपा बोली- 'विपक्ष घबराया हुआ, उसे हार का डर'
धरती की परवाह किसे?
'भारतीय भाषाएं और एक भाषायी क्षेत्र के रूप में भारत' विषय पर सम्मेलन का उद्घाटन किया
मैसूरु: दपरे महाप्रबंधक ने मैसूरु रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास कार्यों का निरीक्षण किया
राहुल गांधी 4 जून को ईवीएम पर ठीकरा फोड़ेंगे, 6 जून को छुट्टी मनाने थाईलैंड चले जाएंगे: शाह
प्रज्ज्वल मामला: सीएन अश्वत्थ नारायण बोले- इस एसआईटी से सच्चाई सामने लाने की उम्मीद नहीं