बंगाल में भाजपा की 30 सीटें आते ही तृणकां खंड-खंड हो जाएगी: शाह

केंद्रीय गृह मंत्री ने पश्चिम बंगाल के कांठी में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित किया

बंगाल में भाजपा की 30 सीटें आते ही तृणकां खंड-खंड हो जाएगी: शाह

शाह ने कहा कि बंगाल में राजनीतिक हिंसा ने लोकतंत्र को लगभग समाप्त कर दिया है

कांठी/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के कांठी में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मतदान के इन 5 चरणों में मोदी 310 सीट पार कर गए हैं। ममता दीदी के इंडि गठबंधन का सूपड़ा साफ हो गया है। इस बार बंगाल में भी 30 सीटें मोदी की झोली में जाने वाली हैं।

शाह ने कहा कि बंगाल में भाजपा की 30 सीटें आते ही तृणकां खंड-खंड हो जाएगी और ममता दीदी की सरकार की विदाई हो जाएगी। सत्तर साल से कांग्रेस और तृणकां राम मंदिर को रोककर बैठी थीं। आपने मोदी को दूसरी बार प्रधानमंत्री बनाया, उन्होंने पांच साल में ही केस भी जीता, भूमिपूजन भी किया और 22 जनवरी को प्राण-प्रतिष्ठा भी कर दी।

शाह ने कहा कि प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम का निमंत्रण ममता दीदी को भी दिया गया था, लेकिन वे अयोध्या नहीं गईं। इसलिए नहीं गई, क्योंकि अपने वोटबैंक से डरती हैं। घुसपैठिए ममता दीदी का वोटबैंक हैं। ममता दीदी सीएए के कार्यान्वयन के खिलाफ खड़ी हैं, क्योंकि वे अपने वोटबैंक से डरती हैं।

शाह ने कहा कि संप्रग शासन के दौरान पाकिस्तानी घुसपैठिए हम पर हमला करते थे और फिर फरार हो जाते थे। मोदी की सरकार ने आतंकवादी हमलों का जवाब उरी और एयर स्ट्राइक जैसे ऑपरेशनों से दिया।

शाह ने कहा कि ममता हार से बुरी तरह डरी हुई हैं। कल मुझे यहां पहुंचते ही पता चला कि शुभेंदु दा के घर पर पुलिस ने रेड की है। ममता दीदी, हम भाजपा वाले हैं, आपकी पुलिस से नहीं डरते। यह शुभेंदु अधिकारी का क्षेत्र है। मैं यहां कहकर जाता हूं कि ममता दीदी इन पर जितना अत्याचार करेंगी, भाजपा शुभेंदु को उतना ही बड़ा आदमी बनाएगी।

शाह ने कहा कि बंगाल में राजनीतिक हिंसा ने लोकतंत्र को लगभग समाप्त कर दिया है। यहां पंचायत के चुनाव हुए, जिनमें 200 से ज्यादा लोग मारे गए। मैं आपसे कहना चाहता हूं कि इस बार आप मत डरना, क्योंकि पांच चरण के चुनाव में ममता के गुंडे किसी का बाल भी बांका नहीं कर पाए।

शाह ने कहा कि बंगाल घुसपैठियों के लिए सुरक्षित ठिकाना बन गया है। घुसपैठ का मुद्दा न केवल बंगाल, बल्कि पूरे देश के लिए गंभीर चिंता का विषय है। बंगाल में लगातार जनसांख्यिकी बदली जा रही है। ममता दीदी वोटबैंक की राजनीति के लिए देश की सुरक्षा को दांव पर लगा रही हैं।

शाह ने कहा कि मोदी की सारी योजनाएं ममता बनर्जी रोक कर बैठी हैं। पीएम आवास योजना के अंतर्गत बिहार में 87 लाख पक्के घर बने, जबकि बंगाल में सिर्फ 38 लाख घर बन पाए। जल जीवन मिशन से बिहार के 96 प्रतिशत घरों में पानी पहुंचा, जबकि बंगाल में सिर्फ 39 प्रतिशत घरों तक पानी पहुंचा।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List