मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने बजट पेश करते हुए ‘गारंटी योजनाओं’ का बचाव किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि ये चुनावी हथकंडा नहीं हैं

मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने बजट पेश करते हुए ‘गारंटी योजनाओं’ का बचाव किया

Photo: @INCKarnataka FB page

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने शुक्रवार को राज्य का बजट पेश करते हुए अपनी सरकार की गारंटी योजनाओं का जोरदार बचाव किया और कहा कि ये चुनावी हथकंडा नहीं हैं। उन्होंने केंद्र सरकार की आलोचना भी की। 

वित्त मंत्री के रूप में अपने रिकॉर्ड 15वें बजट भाषण में और वर्तमान कांग्रेस शासन के तहत दूसरे बजट भाषण में, सिद्दरामैया ने आईएमएल के लिए कर स्लैब को संशोधित करने का प्रस्ताव रखा, ताकि उन्हें तर्कसंगत बनाया जा सके और उन्हें पड़ोसी राज्यों के समान उत्पादों के साथ प्रतिस्पर्धी बनाया जा सके।

वर्ष 2024-25 के लिए बजट का कुल परिव्यय 371383 करोड़ रुपए आंका गया है। इस वर्ष उधार एक लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार कर गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बेंगलूरु में यातायात की भीड़ और प्रदूषण को कम करने के लिए सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देना उनकी प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेट्रो रेल, उपनगरीय रेल और बेंगलूरु मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन (बीएमटीसी) की बस सेवाओं जैसे परिवहन के विभिन्न तरीकों को एकीकृत करने से राज्य की राजधानी में लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च 2025 तक मौजूदा 74 किमी मेट्रो लाइनों में 44 किमी अतिरिक्त लाइन जोड़ दी जाएंगी। इसके अलावा, आउटर रिंग रोड से एयरपोर्ट रोड तक मेट्रो रेल परियोजना चरण-2 और चरण-2ए जून 2026 तक पूरा हो जाएगा।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News