कांग्रेस और राहुल पर पात्रा का हमला- 'हमास के समर्थक बनकर सामने आए हैं'

डॉ. संबित पात्रा ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया

कांग्रेस और राहुल पर पात्रा का हमला- 'हमास के समर्थक बनकर सामने आए हैं'

'प्रियंका वाड्रा से मांग करता हूं कि वे सभा करने से पहले भरतपुर में हुई घटना के स्थल पर जाएं'

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा ने बुधवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि राजस्थान के भरतपुर में बयाना के बहुत ही हृदयविदारक दृश्य सुबह से ही टीवी चैनल्स पर चल रहे हैं। एक ट्रैक्टर निरपत नाम के युवक के ऊपर चढ़ जाता है और उस युवक की हत्या कर दी जाती है।

पात्रा ने कहा कि यह केवल एक युवक की हत्या का विषय नहीं है, बल्कि आज पूरे राजस्थान और अन्य सभी कांग्रेस शासित राज्यों का विषय है। बताया गया है कि आज प्रियंका वाड्रा राजस्थान पहुंच रही हैं।

मैं आज भाजपा के प्रवक्ता और एक जिम्मेदार कार्यकर्ता के नाते प्रियंका वाड्रा से मांग करता हूं कि वे सभा करने से पहले भरतपुर में हुई घटना के स्थल पर जाएं, पीड़ित परिवार से मिलें और इस वीभत्स हत्या के दोषियों एवं प्रशासन पर कार्रवाई करके दिखाएं।

पात्रा ने कहा कि आज अशोक गहलोत ने खालिस्तान के समर्थन में बयान दिया है, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी आज पूरे हिंदुस्तान और विश्व में हमास के समर्थक बनकर सामने आए हैं। इसका केवल एक कारण है- तुष्टीकरण। अगर इन्होंने हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में अपना घोषणा पत्र लागू किया होता तो आज इन्हें खालिस्तान का समर्थन न करना पड़ता।

पात्रा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में राहुल गांधी ने घोषणा की थी कि राज्य में कांग्रेस के सत्ता में आते ही पहली कैबिनेट बैठक में 5 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा, लेकिन कुछ नहीं हुआ। प्रियंका वाड्रा ने हिमाचल में कहा था कि हम 22 लाख महिलाओं को 1,500 रुपए प्रतिमाह मुआवजा देंगे, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

पात्रा ने कहा कि हिमाचल में इन्होंने 300 यूनिट बिजली देने की घोषणा की थी, लेकिन कुछ नहीं हुआ। बल्कि भाजपा सरकार जो 125 यूनिट बिजली हिमाचल में फ्री दे रही थी, वो भी बंद कर दी गईं। प्रियंका वाड्रा से गुजारिश है कि वे भरतपुर जाएं और वहां जाकर प्रशासन को सस्पेंड करें और गहलोत की तरफ से क्षमा याचना करें।

हम जानना चाहते हैं कि खालिस्तान के विषय में जो गहलोत सोचते हैं, क्या वही राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा भी सोचते हैं? आज इसका भी जवाब उन्हें देना चाहिए।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News