अन्नाद्रमुक के अलग होने पर भाजपा की तमिलनाडु कोर समिति चर्चा करेगी

भाजपा नीत राजग से अलग होने की अन्नाद्रमुक की घोषणा को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया

अन्नाद्रमुक के अलग होने पर भाजपा की तमिलनाडु कोर समिति चर्चा करेगी

जमीनी हकीकत पर रिपोर्ट के लिए अन्नाद्रमुक के साथ पहले से संपर्क में रहे वरिष्ठ नेताओं से पूछताछ की जा सकती है

चेन्नई/भाषा। तमिलनाडु में ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग होने के फैसले से स्तब्ध भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जल्द ही कोर समिति व कार्यकारी समिति में इस मुद्दे और अन्य राजनीतिक घटनाक्रमों पर चर्चा करेगी। एक वरिष्ठ नेता ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

भाजपा नीत राजग से अलग होने की अन्नाद्रमुक की घोषणा को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए, पार्टी के नेता डॉ. पोंगुलेटी सुधाकर रेड्डी ने कहा कि इस मुद्दे पर जल्द ही पार्टी की राज्य कोर समिति और कार्यकारी समिति में चर्चा की जाएगी।

रेड्डी ने बताया, 'मैं गठबंधन पर आधिकारिक टिप्पणी नहीं कर सकता। तमिलनाडु में घटनाक्रम पर केंद्रीय नेतृत्व नजर बनाए हुए है और वे इस संबंध में आवश्यक कदम उठाएंगे।'

अन्नाद्रमुक के भाजपा से अलग होने पर पार्टी नेतृत्व द्वारा केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से 'स्थिति रिपोर्ट' मांगे जाने के सवाल पर उन्होंने चुप्पी साध ली।

भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेता ने संकेत दिया कि जमीनी हकीकत पर रिपोर्ट के लिए अन्नाद्रमुक के साथ पहले से संपर्क में रहे वरिष्ठ नेताओं से पूछताछ की जा सकती है। उन्होंने कहा कि गठबंधन पर फैसला सिर्फ और सिर्फ आलाकमान द्वारा ही किया जाएगा।

विधान परिषद के पूर्व सदस्य रेड्डी ने कहा, 'फिलहाल हम 17 सितंबर से दो अक्टूबर तक जारी 'सेवा पखवाड़ा' में शामिल हैं। दो अक्टूबर के बाद ही संबंधित समितियों की बैठकें हो पाएंगी।'

अन्नाद्रमुक ने सोमवार को भाजपा के साथ अपने रिश्तों को समाप्त कर लिया और कहा कि साल 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी एक अलग गठबंधन का नेतृत्व करेगी।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News