हैदराबाद: बहुमंजिला इमारत में भीषण आग लगने से 6 लोगों की मौत

अस्पताल लाए जाने से पहले ही इन छह लोगों की मौत हो चुकी थी

हैदराबाद: बहुमंजिला इमारत में भीषण आग लगने से 6 लोगों की मौत

आशंका है कि इन लोगों की जान दम घुटने की वजह से गई

हैदराबाद/भाषा। हैदराबाद के सिकंदराबाद में एक बहुमंजिला वाणिज्यिक परिसर में आग लगने के बाद कथित तौर पर दम घुटने से चार महिलाओं समेत छह लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि ‘स्वप्नलोक कॉम्प्लेक्स’ के पांचवे तल पर बृहस्पतिवार को दमकल कर्मियों को छह लोग बेहोश मिले थे, जिसके बाद उन्हें सरकारी अस्पताल ले जाया गया।

एक चिकित्सक ने बताया कि अस्पताल लाए जाने से पहले ही इन छह लोगों की मौत हो चुकी थी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, जांच के बाद ही मौत की असल वजह पता चल पाएगी, लेकिन आशंका है कि इन लोगों की जान दम घुटने की वजह से गई। उन्होंने कहा कि जांच के बाद उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने दुर्घटना में हुई मौतों पर दुख व्यक्त किया और प्रत्येक मृतक के परिजन को 5-5 लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की।

अग्निशमन अभियान में शामिल अधिकारियों ने कहा कि इमारत की बाहरी सीढ़ियां बंद पाई गईं और वहां अनुपयोगी सामान पड़ा हुआ था। इमारत में कई निजी कार्यालय, कपड़े और इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं की दुकानें है।

अधिकारियों ने बताया कि ‘हाइड्रॉलिक प्लेटफॉर्म’ का इस्तेमाल कर इमारत से 12 लोगों को निकाला गया और दम घुटने से बेहोश हुए छह लोगों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

घटनास्थल का निरीक्षण करने वाले तेलंगाना राज्य आपदा प्रतिक्रिया एवं अग्निशमन सेवा के महानिदेशक वाई नागी रेड्डी ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि बृहस्पतिवार शाम करीब सात बजकर 20 मिनट पर आग लगने की सूचना मिली और दमकल की गाड़ियों को तुरंत इलाके में भेजा गया।

उन्होंने कहा कि 12 लोगों को बचा लिया गया है। अग्निशमन और बचाव अभियान के दौरान, पांचवीं मंजिल पर एक कमरे में छह अन्य लोग अचेत अवस्था में पाए गए और उन्हें बाहर लाकर अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, लेकिन उनकी मौत हो गई।

उन्होंने कहा कि (इमारत की) जांच की गई है और पूरी आशंका है कि आग लगने का कारण बिजली का शार्ट-सर्किट हो सकता है।

उन्होंने बताया कि इमारत में अग्नि सुरक्षा प्रणालियां लगाई गई थीं, लेकिन उनमें से कोई भी काम नहीं कर रही थी।

शीर्ष अधिकारी ने कहा कि इमारत की पांचवीं मंजिल में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है, जबकि सातवीं मंजिल पर स्थित कुछ कार्यालयों को भी नुकसान हुआ है। आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है।

उन्होंने कहा कि शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मॉल, वाणिज्यिक और आवासीय परिसरों में सीढ़ियों व ‘फायर शाफ्ट’ को कभी भी बंद नहीं रखना चाहिए।

इमारत के ब्लॉक के एक तरफ स्थित एक कार्यालय में आग लग गई, जहां कोई भी मौजूद नहीं था। हालांकि, इसके सामने कार्यालय में काम करने वालों की मौत हो गई, क्योंकि वे भागने में असमर्थ थे।

अधिकारियों ने कहा कि हादसे में जान गंवाने वाले व्यक्ति तेलंगाना के वारंगल, महबूबाबाद और खम्मम जिलों से थे। वे एक मार्केटिंग कंपनी में कार्यरत थे, जिसका कार्यालय परिसर में ही स्थित है। उन्होंने बताया कि मारे गए सभी लोग 25 वर्ष से कम उम्र के थे और हाल ही में कंपनी में नियुक्त हुए थे।

अधिकारियों के मुताबिक, आग बुझाने के लिए दमकल की 10 से अधिक गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। आठ मंजिला इमारत की एक मंजिल से बड़ी लपटें निकल रही थीं और पूरे परिसर में धुआं भरा नजर आ रहा था।

बचाव अभियान की निगरानी कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि बृहस्पतिवार आधी रात के बाद आग पर काबू पा लिया गया।

अधिकारी ने कहा कि आग इमारत की पांचवीं मंजिल में लगने का संदेह है और प्रारंभिक जांच में इसके लिए शॉर्ट सर्किट को जिम्मेदार ठहराया गया है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

इस बार तृणकां और इंडि वालों के बड़े-बड़े किले ध्वस्त होने वाले हैं: मोदी इस बार तृणकां और इंडि वालों के बड़े-बड़े किले ध्वस्त होने वाले हैं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सीपीएम और तृणकां ... पार्टियां दो, दुकान एक, सामान भी एक
'अग्निवीर': राहुल के बयान पर तेजस्वी सूर्या का जवाब- 'जिन्होंने अपने पूरे जीवन में .. एक भी दिन ...'
एसआईटी तय करेगी कि प्रज्ज्वल को कहां गिरफ्तार किया जाए: डॉ. जी परमेश्वर
बांग्लादेशी सांसद के मामले में जासूसी विभाग के प्रमुख ने किए कई बड़े खुलासे
इंडि गठबंधन भ्रष्टाचारियों का जमावड़ा है: नड्डा
कर्नाटक: बीवाई विजयेंद्र बोले- कांग्रेस सरकार की एक साल की उपलब्धियां शून्य हैं
चुनाव नतीजों में विपक्षी दलों के उम्मीदवारों की जमानतें जब्त हो जाएंगी: रवि किशन