एसआईटी ने बिकरू कांड की रिपोर्ट सौंपी, 80 पुलिस, प्रशासनिक कर्मी प्रारंभिक रूप से दोषी ठहराए गए

एसआईटी ने बिकरू कांड की रिपोर्ट सौंपी, 80 पुलिस, प्रशासनिक कर्मी प्रारंभिक रूप से दोषी ठहराए गए

लखनऊ/भाषा। कानपुर के बहुचर्चित बिकरू कांड की जांच के लिए गठित तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआइटी) ने अपनी जांच रिपोर्ट उत्तर प्रदेश के गृह विभाग को सौंप दी है जिसमें 80 से अधिक पुलिस, प्रशासनिक अधिकारियों और कर्मियों को दोषी ठहराया गया है।

एसआइटी ने करीब 3,500 पन्नों की जांच रिपोर्ट शासन को सौंप दी है। जांच रिपोर्ट के करीब 700 पन्ने मुख्य हैं, जिनमें दोषी पाए गए अधिकारियों और कर्मियों की भूमिका के अलावा करीब 36 संस्तुतियां शामिल हैं।

गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया, ‘शासन को बिकरू कांड की एसआईटी की रिपोर्ट मिल गई है, इस पर शीघ्र कार्रवाई की जाएगी।’ आधिकारिक सूत्रों के अनुसार कानपुर के बहुचर्चित बिकरू कांड में पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों के बीच संबंधों की बात सामने आई है।

उन्होंने कहा कि इस जांच में यह भी बात सामने आई है कि पुलिस के ही लोग आरोपी विकास दुबे के लिए मुखबिरी करते थे और घटना की रात विकास को मालूम था कि उसके घर पर पुलिस की छापेमारी होने वाली है।

अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन किया गया था। सूत्रों का कहना है कि एसआईटी की जांच में विकास दुबे के घर पुलिस टीम के दबिश देने की सूचना पहले ही लीक कर दिए जाने से जुड़े कई तथ्य उजागर हुए हैं।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

कर्नाटक चुनावः नतीजे तय करने में लिंगायत समुदाय की भूमिका अहम, हर दल जुटा लुभाने में कर्नाटक चुनावः नतीजे तय करने में लिंगायत समुदाय की भूमिका अहम, हर दल जुटा लुभाने में
लिंगायत समुदाय को सामाजिक और राजनीतिक रूप से दिशा देने में मठ भी प्रभावशाली भूमिका निभाते हैं
कर्नाटक में भाजपा के इस विधायक ने विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दिया, कांग्रेस में जाने की तैयारी!
जद (एस) को एक और झटका, इस विधायक ने दिया कर्नाटक विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा
कर्नाटकः चुनाव अधिकारियों ने मुख्यमंत्री बोम्मई की निजी कार की तलाशी ली
कर्नाटकः भाजपा-कांग्रेस ने आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर एक-दूसरे की शिकायतें कीं
इंदौर में मंदिर हादसे के दोषियों की जिम्मेदारी तय करेंगेः शिवराज सिंह चौहान
कानपुरः बहुमंजिला टावरों में आग लगी, करीब 500 दुकानें चपेट में आईं