कश्मीर हमारा है, कश्मीरी हमारे हैं और कश्मीरियत भी हमारी : राजनाथ

कश्मीर हमारा है, कश्मीरी हमारे हैं और कश्मीरियत भी हमारी : राजनाथ

पेलिंग(सिक्किम)। जम्मू-कश्मीर में जारी अशांति के बीच, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि राजग सरकार कश्मीर मुद्दे का स्थायी समाधान निकालेगी। सिक्किम के इस पश्चिमी हिस्से में एक जनसभा को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर में संकट पैदा करके भारत को अस्थिर करने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने विस्तृत जानकारी दिए बगैर कहा, लेकिन मैं आप सबसे कहना चाहता हूं कि हमारी सरकार कश्मीर मुद्दे का स्थायी समाधान निकालेगी। गृहमंत्री के बयान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि यह ऐसे समय आया है जब कश्मीर घाटी नौ अप्रैल को श्रीनगर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के समय से ब़डे पैमाने पर अशांति का गवाह बन रही है। उस दिन सुरक्षाबलों की गोलियों से आठ लोग मारे गये थे। इसमें मतदान प्रतिशत मात्र ७.१४ प्रतिशत रहा था। चुनाव आयोग को १२ अप्रैल को अनंतनाग लोकसभा सीट पर उपचुनाव को कश्मीर की स्थिति को देखत हुए स्थगित करना प़डा था। ब़डी संख्या में छात्रों ने स़डकों पर उतरकर सुरक्षाबलों द्वारा कथित अत्याचार के खिलाफ प्रदर्शन किया था। सिंह ने कहा, कश्मीर हमारा है। कश्मीरी हमारे हैं और कश्मीरियत भी हमारी है। हम कश्मीर का स्थायी समाधान निकालेंगे। वर्ष २०१४ में मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह के संदर्भ में, गृह मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान सहित सभी प़डोसी देशों के नेताओं को यह दिखाने के लिए आमंत्रित किया गया था कि नई सरकार सभी देशों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध रखना चाहती है। उन्होंने कहा कि हालांकि भारत के प्रति पाकिस्तान के रूख में कोई बदलाव नहीं आया और वह भारत को अस्थिर करना चाहता है। उन्होंने कहा, हमें आशा है कि पाकिस्तान बदल जाएगा। अगर वह नहीं बदलता है तो हमें उन्हें बदलना होगा। वैश्वीकरण के बाद, एक देश दूसरे देश को अस्थिर नहीं कर सकता क्योंकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय इसे नहीं भूलेगी। गृह मंत्री सिक्किम के तीन दिन के दौरे पर हैं, इस दौरान उन्होंने हिमालय पर बसे राज्यों के सम्मेलन में शामिल होकर भारत चीन सीमा पर सुरक्षा स्थिति और विकास कार्यों की समीक्षा की।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

7 लाख रुपए की कमाई और आयकर की नई व्यवस्था का गणित यहां समझें 7 लाख रुपए की कमाई और आयकर की नई व्यवस्था का गणित यहां समझें
‘डिफॉल्ट’ का मतलब है कि अगर आयकर रिटर्न भरते समय आपने विकल्प नहीं चुना तो आप स्वत: नई आयकर व्यवस्था...
आम बजट में क्या सस्ता, क्या महंगा? यहां जानिए सबकुछ
वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पेश की जाएगी पीएम-प्रणाम योजना
बजट: अपर भद्रा परियोजना के लिए 5,300 करोड़ रु. की घोषणा, बोम्मई ने जताया आभार
अब 7 लाख रुपए तक की सालाना आय वालों को नहीं देना होगा टैक्स
एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों के लिए की जाएगी 38,800 शिक्षकों की भर्ती
बजट भाषण: 80 करोड़ लोगों को दिया मुफ्त अनाज, 2.2 लाख करोड़ रु. का हस्तांतरण