इन नियमों का करेंगे पालन तो योगाभ्यास से मिलेंगे भरपूर फायदे

योगाभ्यास करते समय अपनी क्षमता का ध्यान रखें

इन नियमों का करेंगे पालन तो योगाभ्यास से मिलेंगे भरपूर फायदे

Photo: PixaBay

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। योगासन करने के कुछ खास नियम होते हैं। योगाभ्यास के दौरान उनका पालना करना जरूरी है। अगर योगासन ठीक तरह से न किया जाए या नियमों का सही ढंग से पालन न किया जाए तो फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है।

- योग विशेषज्ञों के अनुसार, योगाभ्यास खाली पेट करना चाहिए।

- योगाभ्यास से पहले शौचादि से निवृत्त होना चाहिए।

- अपना भोजन सात्विक रखना चाहिए। 

- योगाभ्यास करते समय, जब तक ऐसा करना जरूरी न हो, सांस को रोककर न रखें। अन्यथा चक्कर आ सकते हैं।

- योगासन करने के लिए अच्छी चटाई या योगा मैट का उपयोग करें। कटी-फटी, मैली, फिसलन भरी और बहुत खुरदरी मैट का उपयोग न करें।

- अत्यधिक थकावट, बीमारी, जल्दबाजी, तीव्र तनाव, फ्रैक्चर, सर्जरी कराने या चोट लगे होने की स्थिति में योगाभ्यास न करें।

- भोजन करने के तुरंत बाद योग नहीं करना चाहिए। इसी तरह तुरंत बाद पानी या कोई अन्य पेय पदार्थ नहीं पीना चाहिए। 

- योगाभ्यास करते समय अपनी क्षमता का ध्यान रखें। इससे ज्यादा अभ्यास करना कई समस्याएं पैदा कर सकता है। 

- याद रखें कि योगाभ्यास से अच्छे परिणाम तुरंत ही नहीं मिल जाते। इसके लिए नियमित अभ्यास करना जरूरी है। 

- योगाभ्यास करें तो ऐसे कपड़े पहनें, जो न तो बहुत ढीले हों और न बहुत कसे हुए हों। ऐसे कपड़े पहनना फायदेमंद होता है, जो योगाभ्यास में सहायक हों, उसमें बाधक न बनें।

- योग सत्र का समापन ध्यान, शांति पाठ आदि के साथ करना चाहिए।

ज़रूर पढ़िए:
कब्ज के मर्ज से हैं परेशान? ये योगासन करेंगे 'समस्या' का समाधान
Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री 'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री
उन्होंने एचएएल के शीर्ष प्रबंधन को संबोधित किया
हर साल 4000 से ज्यादा विद्यार्थियों को ऑटोमोटिव कौशल सिखा रही टाटा मोटर्स की स्किल लैब्स पहल
भोजशाला: सर्वेक्षण के खिलाफ याचिका सूचीबद्ध करने पर विचार के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत
इमरान ख़ान की पार्टी पर प्रतिबंध लगाएगी पाकिस्तान सरकार!
भोजशाला मामला: एएसआई ने सर्वेक्षण रिपोर्ट मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय को सौंपी
उच्चतम न्यायालय ने सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाली शिवकुमार की याचिका खारिज की
ईश्वर ही था, जिसने अकल्पनीय घटना को रोका, अमेरिका को एकजुट करें: ट्रंप