झारखंड: घरेलू नौकर के ठिकानों पर ईडी ने मारा छापा, निकला 'नोटों का पहाड़'

वीडियो और तस्वीरों में अधिकारियों को एक कमरे में बड़े बैग से नोटों की गड्डियां निकालते दिखाया गया

झारखंड: घरेलू नौकर के ठिकानों पर ईडी ने मारा छापा, निकला 'नोटों का पहाड़'

यह परिसर झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव संजीव लाल के घरेलू नौकर का बताया जाता है

रांची/दक्षिण भारत। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को दावा किया कि झारखंड के एक मंत्री के सचिव से कथित तौर पर जुड़े एक घरेलू नौकर के परिसरों पर तलाशी के दौरान भारी मात्रा में 'बेहिसाबी' नकदी बरामद की गई है। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

सूत्रों द्वारा साझा किए गए वीडियो और तस्वीरों में केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारियों को एक कमरे में बड़े बैग से नोटों की गड्डियां निकालते हुए दिखाया गया है। कुछ केंद्रीय बल के सुरक्षाकर्मी भी दिखे।

यह परिसर झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव संजीव लाल के घरेलू नौकर का बताया जाता है।

एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी रांची में कई ठिकानों पर छापेमारी कर रहे हैं। वीरेंद्र राम मामले में झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम के पीएस - संजीव लाल के घरेलू सहायक से भारी मात्रा में नकदी बरामद की गई है।

एएनआई ने वीडियो साझा करते हुए बताया कि प्रवर्तन निदेशालय ने कुछ योजनाओं के कार्यान्वयन में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में फरवरी 2023 में झारखंड ग्रामीण विकास विभाग के मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम को गिरफ्तार किया था।

रांची में उक्त छापेमारी पर प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रतुल शाह देव ने कहा कि झारखंड सरकार के भ्रष्टाचार की अंतहीन कहानी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। अभी कुछ दिन पहले ही कांग्रेस के एक सांसद के घर और दफ्तर से 300 करोड़ रुपए नकद बरामद हुए थे। मुख्यमंत्री के करीबी के सहयोगियों के आवास से 10 करोड़ रुपए से अधिक की बरामदगी हुई थी।

उन्होंने कहा कि अब मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव के घर से 25 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम बरामद हुई है। आलमगीर आलम को तुरंत हिरासत में लिया जाए। उनसे सख्ती से पूछताछ की जाए और इस पैसे का कनेक्शन ईडी से जोड़ा जाए। चुनाव आयोग को भी संज्ञान लेना चाहिए।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List