जम्मू-कश्मीर: आतंकवाद विरोधी अभियान के तहत पुंछ, राजौरी में मोबाइल इंटरनेट निलंबित

जम्मू-कश्मीर: आतंकवाद विरोधी अभियान के तहत पुंछ, राजौरी में मोबाइल इंटरनेट निलंबित

Photo: @bsf_jammu

पुंछ/राजौरी/दक्षिण भारत। सेना के दो वाहनों पर हुए हमले में पांच सैनिकों की जान लेने वाले आतंकवादियों का पता लगाने के लिए सुरक्षा बलों का तलाशी अभियान जारी है। इस सिलसिले में जम्मू-कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में शनिवार तड़के मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गईं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी है।

मीडिया रिपोर्टों में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि अफवाह फैलाने वालों को रोकने और शरारती तत्वों को कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा करने से रोकने के लिए एहतियात के तौर पर पुंछ और राजौरी दोनों जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है।

सूत्रों ने कहा कि सेना, पुलिस और नागरिक अधिकारी स्थिति पर नजर रख रहे हैं, शांति बनाए रखने के लिए जिलों के संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं।

बता दें कि गुरुवार दोपहर पुंछ के सुरनकोट पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र में ढेरा की गली और बुफलियाज के बीच धत्यार मोड़ पर तीन से चार भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने सेना की जिप्सी और एक ट्रक को निशाना बनाया, जिसमें पांच सैनिक शहीद हो गए और दो अन्य घायल हो गए।

हमले के बाद, आतंकवादियों ने कथित तौर पर कम से कम दो सैनिकों के शवों को क्षत-विक्षत कर दिया और उनमें से कुछ के हथियार ले लिए।

अधिकारियों ने कहा कि हमले के तुरंत बाद घने जंगली इलाकों में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया गया, जिसमें राजौरी के निकटवर्ती थानामंडी को भी शामिल किया गया, लेकिन भाग रहे आतंकवादियों के साथ अब तक कोई ताजा मुठभेड़ नहीं हुई है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री 'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री
उन्होंने एचएएल के शीर्ष प्रबंधन को संबोधित किया
हर साल 4000 से ज्यादा विद्यार्थियों को ऑटोमोटिव कौशल सिखा रही टाटा मोटर्स की स्किल लैब्स पहल
भोजशाला: सर्वेक्षण के खिलाफ याचिका सूचीबद्ध करने पर विचार के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत
इमरान ख़ान की पार्टी पर प्रतिबंध लगाएगी पाकिस्तान सरकार!
भोजशाला मामला: एएसआई ने सर्वेक्षण रिपोर्ट मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय को सौंपी
उच्चतम न्यायालय ने सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाली शिवकुमार की याचिका खारिज की
ईश्वर ही था, जिसने अकल्पनीय घटना को रोका, अमेरिका को एकजुट करें: ट्रंप