भाजपा सांसद का आरोप: महुआ मोइत्रा की संसदीय लॉगिन आईडी का इस देश में हुआ इस्तेमाल!

भाजपा नेता ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘कुछ पैसे के लिए एक सांसद ने देश की सुरक्षा को गिरवी रखा'

भाजपा सांसद का आरोप: महुआ मोइत्रा की संसदीय लॉगिन आईडी का इस देश में हुआ इस्तेमाल!

'भारत सरकार, देश के प्रधानमंत्री, वित्त विभाग, केन्द्रीय एजेंसियां इस एनआईसी का इस्तेमाल करते हैं’

नई दिल्ली/भाषा। तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा पर एक बार फिर निशाना साधते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोकसभा सदस्य निशिकांत दुबे ने शनिवार को कहा कि जब वे (मोइत्रा) भारत में थीं, तब उनके संसदीय लॉगिन आईडी का इस्तेमाल दुबई में किया गया था। उन्होंने दावा किया कि राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) ने जांच एजेंसियों को इस बारे में खुलासा किया है।

भाजपा नेता ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘कुछ पैसे के लिए एक सांसद ने देश की सुरक्षा को गिरवी रखा। दुबई से संसद के आईडी खोले गए, उस वक़्त कथित सांसद भारत में ही थीं। पूरी भारत सरकार, देश के प्रधानमंत्री, वित्त विभाग, केन्द्रीय एजेंसियां इस एनआईसी का इस्तेमाल करते हैं।’

दुबे ने एजेंसी का नाम नहीं बताते हुए पोस्ट में लिखा, ‘क्या तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी दलों को अब भी राजनीति करना है? निर्णय जनता करेगी। एनआईसी ने यह जानकारी जांच एजेंसी को दी है।’

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत आने वाला राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) केंद्र सरकार, राज्य सरकारों, संघ शासित प्रदेश प्रशासन, जिले और अन्य सरकारी निकाय को सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) समाधान अपनाने और ई-गवर्नेंस सहायता प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अपने पोस्ट में दुबे ने सीधे तौर पर मोइत्रा का नाम नहीं लिया है, जिन पर उन्होंने रिश्वत लेकर अडाणी ग्रुप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने के लिए उद्योगपति दर्शन हीरानंदानी के कहने पर लोकसभा में सवाल पूछने का आरोप लगाया है।

लोकसभा की आचार समिति दुबे की शिकायत की जांच कर रही है और उसने 26 अक्टूबर को ‘मौखिक बयान’ दर्ज कराने के लिए उसके समक्ष पेश होने को कहा है।

समिति को सौंपे गए एक हस्ताक्षरित हलफनामे में हीरानंदानी ने स्वीकार किया कि सरकार के स्वामित्व वाली इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) द्वारा उनकी कंपनी के एलएनजी टर्मिनल के बजाय ओडिशा में धामरा एलएनजी आयात सुविधा केंद्र को चुनने के बाद उन्होंने अडाणी पर निशाना साधते हुए सवाल पूछने के लिए मोइत्रा के संसदीय लॉगिन का इस्तेमाल किया था।

मोइत्रा की पार्टी ने इस मुद्दे पर चुप्पी साध रखी है, लेकिन सांसद इस पर आक्रामक बनी हुई हैं और उनके खिलाफ आरोपों को खारिज करते हुए अडाणी समूह और दुबे पर हमला करना जारी रखा है।

आरोपों के सामने आने के बाद 15 अक्टूबर को उन्होंने कहा था, ‘अडाणी प्रतिस्पर्धा को मात देने और हवाईअड्डे खरीदने के लिए भाजपा की एजेंसियों का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन मेरे साथ ऐसा करके तो देखें।’

मोइत्रा ने शुक्रवार को कहा, ‘मैं सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) और आचार समिति (जिसमें भाजपा सदस्यों का पूर्ण बहुमत है) मुझे बुलाते हैं तो मैं उनके सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हूं। मेरे पास अडाणी द्वारा निर्देशित ‘मीडिया सर्कस ट्रायल’ को बढ़ावा देने या भाजपा के ट्रोल का जवाब देने के लिए न तो समय है और न ही रुचि है। मैं नादिया में दुर्गा पूजा का आनंद ले रही हूं। शुभो षष्ठी।’

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News