प्रधानमंत्री मोदी 12 मार्च को बेंगलूरु-मैसूरु एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित करेंगे

इस परियोजना में राष्ट्रीय राजमार्ग-275 के बेंगलूरु-निडाघट्टा-मैसूरु खंड को छह लेन का बनाया जाना भी शामिल है

प्रधानमंत्री मोदी 12 मार्च को बेंगलूरु-मैसूरु एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित करेंगे

इस बुनियादी ढांचा परियोजना से बेंगलूरु और मैसूरु के बीच की यात्रा-अवधि लगभग 3 घंटे से घटकर करीब 75 मिनट रह जाएगी

बेंगलूरु/भाषा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 मार्च को कर्नाटक का दौरा करेंगे, जहां वे करीब 16,000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे।

प्रधानमंत्री बेंगलूरु-मैसूरु एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इस परियोजना में राष्ट्रीय राजमार्ग-275 के बेंगलूरु-निडाघट्टा-मैसूरु खंड को छह लेन का बनाया जाना भी शामिल है।

एक सरकारी बयान में कहा गया है कि 118 किलोमीटर लंबी इस परियोजना को करीब 8,480 करोड़ रुपए की कुल लागत से विकसित किया गया है।

इस बुनियादी ढांचा परियोजना से बेंगलूरु और मैसूरु के बीच की यात्रा-अवधि लगभग 3 घंटे से घटकर करीब 75 मिनट रह जाएगी। इससे क्षेत्र में सामाजिक-आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा।

बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री मैसूरु-कुशलनगर चार लेन राजमार्ग की आधारशिला भी रखेंगे। 92 किलोमीटर लंबी इस परियोजना को करीब 4,130 करोड़ रुपए की लागत से विकसित किया जाएगा।

यह परियोजना बेंगलूरु के साथ कुशलनगर के परिवहन संपर्क को बढ़ावा देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी और यात्रा-अवधि को लगभग 5 से घटाकर केवल 2.5 घंटे करने में मदद करेगी।

इसके बाद मोदी हुब्बली जाएंगे, जहां वे आईआईटी, धारवाड़ राष्ट्र को समर्पित करेंगे। संस्थान की आधारशिला फरवरी 2019 में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा रखी गई थी।

करीब 850 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से विकसित यह संस्थान वर्तमान में चार साल के बीटेक कार्यक्रम, पांच वर्षीय बीएस-एमएस कार्यक्रम, एमटेक और पीएचडी पाठ्यक्रम मुहैया कराता है।

प्रधानमंत्री श्री सिद्धारूढ़ स्वामीजी हुब्बली स्टेशन पर दुनिया के सबसे लंबे रेलवे प्लेटफॉर्म का भी लोकार्पण करेंगे। इस रिकॉर्ड को हाल ही में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स द्वारा मान्यता दी गई है। 1,507 मीटर लंबे इस प्लेटफॉर्म को लगभग 20 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित किया गया है।

प्रधानमंत्री इस क्षेत्र में संपर्क को बढ़ावा देने के लिए होसपेटे-हुबली-तीनाईघाट खंड के विद्युतीकरण और होसपेटे स्टेशन के उन्नयन का लोकार्पण करेंगे।

करीब 530 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से विकसित, विद्युतीकरण परियोजना विद्युत कर्षण पर निर्बाध ट्रेन संचालन की सुविधा देती है। पुनर्विकसित होसपेटे स्टेशन यात्रियों को आरामदायक और आधुनिक सुविधाएं प्रदान करेगा। इसे हम्पी स्मारकों के अनुरूप डिजाइन किया गया है।

बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री हुब्बली-धारवाड़ स्मार्ट सिटी की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे।

इन परियोजनाओं की कुल अनुमानित लागत लगभग 520 करोड़ रुपए है। ये प्रयास सार्वजनिक स्थानों को स्वच्छ, सुरक्षित और सुविधाजनक बनाकर जीवन की गुणवत्ता में वृद्धि करेंगे और शहर को भविष्य की जरूरतों के अनुरूप एक शहर में बदल देंगे।

प्रधानमंत्री इस यात्रा के दौरान जयदेव अस्पताल और शोध केंद्र की भी आधारशिला रखेंगे। करीब 250 करोड़ रुपए की लागत से इस अस्पताल को विकसित किया जाएगा।

इस क्षेत्र में जल आपूर्ति को और बढ़ाने के लिए, प्रधानमंत्री धारवाड़ बहु-ग्राम जलापूर्ति योजना की आधारशिला रखेंगे, जिसे 1,040 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से विकसित किया जाएगा।

बयान के मुताबिक, वे तुप्पारीहल्ला बाढ़ क्षति नियंत्रण परियोजना की आधारशिला भी रखेंगे, जिसे लगभग 150 करोड़ रुपए की लागत से विकसित किया जाएगा। इस परियोजना का उद्देश्य बाढ़ से होने वाले नुकसान को कम करना है। परियोजना में दीवारों को बनाए रखना और तटबंधों का निर्माण करना शामिल हैं।

यह इस साल मोदी की छठी कर्नाटक यात्रा है, जहां अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सेजल गुलिया ने कॉमनवेल्थ जूनियर और कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में व्यक्तिगत कांस्य पदक जीता सेजल गुलिया ने कॉमनवेल्थ जूनियर और कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में व्यक्तिगत कांस्य पदक जीता
सेजल ने कहा- 'मैं अपने कोच, टीम के साथियों और परिवार के सहयोग के बिना यहां नहीं पहुंच पाती'
क्राइस्टचर्च: कॉमनवेल्थ कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में सेजल के दमदार प्रदर्शन के साथ भारत ने जीता रजत पदक
तटीय कर्नाटक में रेलवे विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी: केंद्रीय मंत्री सोमन्ना
ट्रंप पर हमले में ईरान का हाथ? जनरल सुलेमानी की हत्या होने के बाद खाई थी यह कसम!
कर्नाटक: वाल्मीकि निगम घोटाला मामले में ईडी ने पूर्व मंत्री नागेंद्र की पत्नी से पूछताछ की
बांग्लादेश में लगी आरक्षण आंदोलन की आग, झड़पों में कई लोगों की मौत
कई नेताओं ने छोड़ी अजित पवार की राकांपा, सु​प्रिया बोलीं- 'लोग बड़ी उम्मीदों से देख रहे'