किंग और मासे ने विश्व तैराकी में बनाए रिकार्ड

किंग और मासे ने विश्व तैराकी में बनाए रिकार्ड

बुडापेस्ट। ओलंपिक चैंपियन अमेरिका की लिली किंग ने महिलाओं की १०० मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्धा में विश्व रिकार्ड बनाने के साथ यहां विश्व तैराकी चैंपियनशिप में खिताब अपने नाम कर लिया है। तीन विश्व रिकार्ड तैराकी स्पर्धाओं में से १०० मी. ब्रेस्टस्ट्रोक में लिली ने देर शाम हुई स्पर्धा में एक मिनट ४.१३ सेकंड के रिकार्ड समय के साथ खिताब जीता। उन्होंने वर्ष २०१३ में लिथुआनिया की रूटा मिलुताइते के रिकार्ड को तो़डा। अमेरिकी तैराक ने ओलंपिक फाइनल की तरह ही इस बार भी अपनी विपक्षी खिला़डी रूस की ही यूलिया एफिमोवा को पीछे छो़डा। अमेरिका की केटी मेली ने एक मिनट ५.०३ सेकंड के साथ इस स्पर्धा का रजत जीत लिया। २० साल की किंग ने रियो ओलंपिक के दौरान रूसी खिला़डी एफिमोवा को ओलंपिक में हिस्सा लेने की अनुमति दिए जाने पर सवाल उठाए थे क्योंकि रूसी खिला़डी दो बार प्रतिबंधित दवाओं के सेवन की दोषी करार दी गई थीं। ऐसे में बुडापेस्ट में भी दोनों अमेरिकी और रूसी खिला़डी के बीच फाइनल उनकी पुरानी प्रतिद्वंद्विता के कारण काफी रोमांचक हो गया। एफिनोवा ने तीसरे स्थान पर रहकर कांस्य जीता। ब्रिटेन के एडम पियाटी ने पुरुषों की ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्धा में दूसरे विश्व रिकार्ड मार्क के साथ ५० मीटर फाइनल में जगह बनाई जबकि कनाडा की काइली मासे ने महिलाओं की १०० मीटर बैकस्ट्रोक स्वर्धा में विश्व का सर्वश्रेष्ठ समय लेकर स्वर्ण जीता। पियाटी इसी के साथ पहले पुरुष तैराक भी बन गए हैं जिन्होंने ५० मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में २६ सेकंड से कम समय लिया है। उन्होंने २५.९५ सेकंड का समय लेकर स्वर्ण जीता और हीट में अपने रिकार्ड मार्क से ०.१५ सेकंड कम समय लिया। उन्होंने कहा, मैं सुबह से ही कुछ ब़डा करना चाहता था और यह भुलाया नहीं जा सकता है कि मैंने विश्व रिकार्ड बनाया है। मासे ने विश्व रिकार्ड ५८.१० सेकंड का समय लेकर स्वर्ण जीता। स्पर्धा में ऑस्ट्रेलिया की एमिली सीबोम अपने खिताब का बचाव करने नहीं उतरीं। ब्रिटेन की जेमा स्पोफोर्थ ने वर्ष २००९ में विश्व चैंपियनशिप में ५८.१२ सेकंड का समय लेकर यह रिकार्ड बनाया था। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता अमेरिका की कैथलीन बेकर ने सीबोम को ०.०१ सेकंड से हराकर रजत जीता।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

क्या मोदी का विवेकानंद रॉक मेमोरियल जाकर ध्यान करना आचार संहिता का उल्लंघन होगा? क्या मोदी का विवेकानंद रॉक मेमोरियल जाकर ध्यान करना आचार संहिता का उल्लंघन होगा?
इस संबंध में आचार्य सत्येंद्र दास ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी की आलोचना का जवाब दिया
ऐसा लगता है कि कांग्रेस ने भ्रष्टाचार में पीएचडी कर ली: मोदी
मोदी का रॉक मेमोरियल दौरा: भाजपा बोली- 'विपक्ष घबराया हुआ, उसे हार का डर'
धरती की परवाह किसे?
'भारतीय भाषाएं और एक भाषायी क्षेत्र के रूप में भारत' विषय पर सम्मेलन का उद्घाटन किया
मैसूरु: दपरे महाप्रबंधक ने मैसूरु रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास कार्यों का निरीक्षण किया
राहुल गांधी 4 जून को ईवीएम पर ठीकरा फोड़ेंगे, 6 जून को छुट्टी मनाने थाईलैंड चले जाएंगे: शाह