क्या सचमुच बहुत गुस्सैल हैं काजोल? बताया थप्पड़ का यह किस्सा

क्या सचमुच बहुत गुस्सैल हैं काजोल? बताया थप्पड़ का यह किस्सा

मुंबई/एजेंसी। वर्ष 2015 में शाहरुख खान के साथ ‘दिलवाले’ में काम करने के बाद काजोल ने बॉलीवुड में वापसी की है। पिछले साल धनुष के साथ ‘वीआईपी’ करने के बाद अब वह अपने पति अजय देवगन के प्रोड्क्शन की फिल्म ‘हेलीकॉप्टर एला’ में नजर आने वाली हैं। प्रदीप सरकार द्वारा निर्देशित इस फिल्म में काजोल एक सिंगल मां की भूमिका में नजर आएंगी।

खास बात यह है कि इस सिंगल मां की तमन्ना एक सिंगर बनने की है। इस फिल्म में काजोल का किरदार अब तक के उनके निभाए सारे रोल से कुछ अलग है, इसलिए फिल्म के प्रमोशन में काजोल की निजी जिंदगी की कई बातें भी सामने आ रही हैं।

प्रमोशन के दौरान बॉलीवुड हंगामा को दिए इंटरव्यू में एक ऐसी चौंकाने वाली बात सामने आई। काजोल ने स्वीकार किया कि उन्होंने अपनी बेटी न्यासा को कई बार थप्पड़ मारा है। यह बात उस समय सामने आई जब काजोल से पूछा गया कि ऑन स्क्रीन तो वह सिंगर बनने की ख्वाहिश रखने वाली मां बन रही हैं लेकिन ऑफ स्क्रीन यानी रियल लाइफ में वह कैसी मां हैं। तो उन्होंने बताया कि वह थोड़ी स्ट्रिक्ट मां हैं जो बच्चों के लिए बेहतर भविष्य चाहती हैं।

जब काजोल से यह पूछा गया कि यश और न्यासा में से कौन ज्यादा शरारती है तो काजोल ने बताया न्यासा बहुत शरारती है। अपनी शरारतों के कारण वह कई बार थप्पड़ भी खा चुकी है। लेकिन काजोल ने यह भी बताया कि वह थप्पड़ बहुत हल्की थपकी वाला होता है।

बता दें कि ‘हेलीकॉप्टर एला’ 12 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। यह फिल्म इसी महीने रिलीज होनी थी लेकिन डायरेक्टर प्रदीप सरकार के डेंगू के इजाल के चलते फिल्म की रिलीज डेट कुछ दिन बढ़ा दी गई है।

ये भी पढ़िए:
– आधार कार्ड पर उच्चतम न्यायालय का फैसला किस तरह करेगा आपकी ज़िंदगी को प्रभावित?
– एयरपोर्ट आईं नोरा फतेही ने जोरदार डांस कर सबको चौंका दिया, वायरल हुआ यह वीडियो
– मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट से आधार लिंक जरूरी नहीं, जानिए उच्चतम न्यायालय का फैसला
– शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष बोले- ‘सपने में श्रीराम को रोते देखा, अयोध्या में जल्द बने मंदिर’

Google News
Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने संकल्प लिया था कि सिंदरी के इस खाद कारखाने को जरूर शुरू करवाऊंगा
विधानसभा अध्यक्ष के आदेश के खिलाफ ठाकरे गुट की याचिका पर 7 मार्च को सुनवाई करेगा उच्चतम न्यायालय
बांग्लादेश: ढाका की बहुमंजिला इमारत में आग लगने से 45 लोगों की मौत
हिंसा का चक्र कब तक?
उदित राज ने भाजपा पर दलितों, पिछड़ों, महिलाओं और आदिवासियों की अनदेखी का आरोप लगाया
केंद्रीय कैबिनेट ने 75 हजार करोड़ रुपए की रूफटॉप सोलर योजना को मंजूरी दी
मंदिर संबंधी विधेयक कर्नाटक विधानसभा से फिर पारित हुआ