महान रिश्तों में होती हैं बड़ी चुनौतियां : माइकल क्लार्क

महान रिश्तों में होती हैं बड़ी चुनौतियां : माइकल क्लार्क

बमर्घिंम। भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले के बीच कथित मतभेदों के बारे में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि महान रिश्तों में ब़डी चुनौतियां होती हैं। क्लार्क ने कहा, किसी भी रिश्ते में खुलेपन और ईमानदारी की जरूरत होती है। क्रिकेट में भी ऐसा ही है जिसमें एक कप्तान और एक कोच होता है। आपको ईमानदार रहना होता है। उन्होंने कहा, मतभेद होना लाजमी है लेकिन उन्हें कमरे के भीतर सुलझाया जा सकता है। किसी भी अच्छे रिश्ते में चुनौतियां भी ब़डी होती हैं। उन्होंने कहा कि कुंबले और कोहली के मामले में उनका कुछ कहना गलत होगा क्योंकि वह ड्रेसिंग रूम का हिस्सा नहीं हैं।क्लार्क ने कहा, मैं अनिल कुंबले को जानता हूं जो बेहतरीन इंसान हैं। कोच का काम ड्रेसिंग रूम में मौजूद कप्तान की मदद करना है। मुझे नहीं पता कि क्या मसला है क्योंकि मैं ड्रेसिंग रूम का हिस्सा नहीं हूं। विश्व कप विजेता कप्तान ने हालांकि कहा कि क्रिकेट टीमें कप्तान चलाते हैं। उन्होंने कहा, मैं साफ तौर पर कहना चाहता हूं कि निर्णायक क्षणों में जिम्मेदारी कप्तान की होती है। मैदान के भीतर टीम की कमान विराट के हाथ में है। उसे ही तनाव के हालात में फैसले लेने होंगे। उन्होंने कहा, इस खेल में नतीजा अहम है और कप्तान का आकलन जीत हार के आधार पर ही किया जाता है।अब जाने माने क्रिकेट विशेषज्ञ बने क्लार्क ने पिता और पुत्र के रिश्ते का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, बच्चों के लालन पालन की कोई एक शैली नहीं होती। हर किसी की अपनी शैली होती है क्योंकि हर बच्चा समान नहीं होता। क्रिकेट में भी ऐसा ही है। क्लार्क की कप्तानी की शैली जुदा थी लेकिन वह विराट के जुनून और आक्रामकता के कायल हैं। उन्होंने कहा, विराट शानदार कप्तान है। वह काफी प्रतिस्पर्धी है और उसी तरह से कप्तानी करता है। अब तक तकनीकी तौर पर वह बेहतरीन साबित हुआ है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पेश की जाएगी पीएम-प्रणाम योजना वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पेश की जाएगी पीएम-प्रणाम योजना
लाखों युवाओं को कौशल प्रदान करने के लिए 20 कौशल भारत अंतरराष्ट्रीय केंद्र स्थापित किए जाएंगे
बजट: अपर भद्रा परियोजना के लिए 5,300 करोड़ रु. की घोषणा, बोम्मई ने जताया आभार
अब 7 लाख रुपए तक की सालाना आय वालों को नहीं देना होगा टैक्स
एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों के लिए की जाएगी 38,800 शिक्षकों की भर्ती
बजट भाषण: 80 करोड़ लोगों को दिया मुफ्त अनाज, 2.2 लाख करोड़ रु. का हस्तांतरण
बजट 2023-24 को पिछले बजट की बुनियाद पर निर्माण की उम्मीद: सीतारमण
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति से मुलाकात की