‘आजादी के बाद से अब तक का हिसाब लूंगा’

‘आजादी के बाद से अब तक का हिसाब लूंगा’

कोबे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कालेधन को बाहर निकालने के लिए और कदम उठाने का संकेत दिया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास बेहिसाबी धन है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा और इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि ३० दिसंबर के बाद और कदम नहीं उठाए जाएंगे। सरकार ने लोगों को पुराने नोट जमा कराने के लिए ३० दिसंबर तक का ही समय दिया है। उन्होंने ईमानदार लोगों को भरोसा दिलाया कि उन्हें किसी तरह की परेशानी नहीं झेलनी प़डेगी। मोदी ने कहा, मैं एक बार फिर यह घोषणा करना चाहूंगा कि इस योजना के बंद होने के बाद इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि कालाधन रखने वालों को ठिकाने लगाने के लिए (दंड देने के लिए) कोई नया कदम नहीं उठाया जाएगा। यहां एक स्वागत समारोह में वह भारतीय समुदाय को संबोधित कर रहे थे।प्रधानमंत्री ने कहा, ये बहुत ब़डा स्वच्छता अभियान है, यह किसी को तकलीफ देने के लिए नहीं है। ३० दिसंबर तक किसी को कोई समस्या नहीं होगी। जो कुछ भी आपका धन है, वह आपको मिलेगा। मैं कठिनाइयों पर ध्यान दे रहा हूं, हमारी टीम रास्ते खोज रही है। उन्होंने कहा कि इस योजना को गुप्त रखना बहुत महत्वपूर्ण था, इसे किसी को बताया नहीं जा सकता था। लेकिन, स्वाभाविक रूप से मैं इसे किसी से साझा नहीं कर सकता था।उन्होंने कहा कि यह फैसला कोई रातोंरात नहीं हुआ। सबसे पहले हम एक योजना (स्वैच्छिक अघोषित आय घोषणा योजना) लाए थे। ऐसा नहीं है कि किसी को कोई मौका नहीं दिया गया। उन्होंने जन धन खाता योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने गरीबों से कहा कि अगर आपके पास एक नया पैसा भी नहीं होगा तो भी आपका बैंक खाता खुलेगा। इस पर देश के गरीबों ने अपनी अमीरी दिखाई। अमीरों की गरीबी तो बहुत बार देखी है। उन्होंने कहा, आज मैं कह सकता हूं कि हिन्दुस्तान का कोई भी आदमी पीछे रहने वालों में नहीं है। उन्होंने कहा कि अब ये स्कीम पूरी होने के बाद दूसरा कुछ आपको ठिकाने लगाने को नहीं आयेगा, इसकी गारंटी नहीं है।मोदी ने यह चेतावनी भी दी कि सरकार आ़जादी के बाद सभी खातों की जांच करेगी और कुछ भी गलत पाए जाने पर किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा, हम आ़जादी के बाद के सभी रिकॉर्ड्स जांचे जाएंगे। यदि मुझे अनअकांउटेड नकदी मिली तो कोई बख्शा नहीं जाएगा। मोदी ने लोगों से सवालिया लहजे से पूछा, चोरी का माल निकलना चाहिए या नहीं निकलना चाहिये? उन्होंने आम आदमी और गरीब तबकों से मिल रहे समर्थन के प्रति आभार जताते हुए कहा, मैं भारत के लोगों को धन्यवाद देता हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे लोगों पर तंज कसा जो अपने घर में बुजुर्गों की इज्जत नहीं करते। मोदी ने कहा कि जो लोग अपने मां का सम्मान नहीं करते थे, वह भी अब उनके अकाउंट में ढाई लाख रुपए जमा करा रहे हैं। मोदी ने कहा कि हमने कह दिया है कि कोई गृहिणी ढाई लाख रुपए जमा कर देगी, तो सरकार उसे नहीं पूछेगी कि यह कहां से आए? उन्होंने कह कि इसका परिणाम यह हुआ कि कई बेटे और बहुएं जिन्होंने मां को वृद्धाश्रम में रखा था, वे उन्हें लाकर खाते में ढाई-ढाई लाख जमा कर रहे हैं। बताइए क्या वह मां मुझे आशीर्वाद नहीं देगी?

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पेश की जाएगी पीएम-प्रणाम योजना वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पेश की जाएगी पीएम-प्रणाम योजना
लाखों युवाओं को कौशल प्रदान करने के लिए 20 कौशल भारत अंतरराष्ट्रीय केंद्र स्थापित किए जाएंगे
बजट: अपर भद्रा परियोजना के लिए 5,300 करोड़ रु. की घोषणा, बोम्मई ने जताया आभार
अब 7 लाख रुपए तक की सालाना आय वालों को नहीं देना होगा टैक्स
एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों के लिए की जाएगी 38,800 शिक्षकों की भर्ती
बजट भाषण: 80 करोड़ लोगों को दिया मुफ्त अनाज, 2.2 लाख करोड़ रु. का हस्तांतरण
बजट 2023-24 को पिछले बजट की बुनियाद पर निर्माण की उम्मीद: सीतारमण
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति से मुलाकात की