राम मंदिर बनाने को कटिबद्ध : शाह

राम मंदिर बनाने को कटिबद्ध : शाह

लखनऊ। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि उनकी पार्टी मंदिर बनाने के लिए कटिबद्ध है। शाह ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, भाजपा का रूख साफ है। मामला अदालत में है। या तो अदालत के फैसले या सर्वसम्मति से ही फैसला होगा। उन्होंने कहा कि जहां तक मंदिर निर्माण का प्रश्न है, भाजपा मंदिर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। जब मंदिर निर्माण को लेकर सुब्रहमण्यम स्वामी के बयान पर सवाल हुआ तो शाह बोले कि स्वामी ने जो कहा है, वह उनका बयान है और इस पर वह कुछ टिप्पणी नहीं करना चाहते।द्धष्ठक्वह्रर्ड्डैं ब्ह्·र्ैंद्य द्धस्र·र्ैं द्बष्ठ्र ठ्ठय्ध्ष्ठ्र ू्रु्रु ृय्स्द्य र्ीं्रु्रु्रु ·र्ष्ठैं द्मह्ट्टभाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ५०० और १००० रुपए के नोट बंद करने के फैसले को सही ठहराते हुए शनिवार को देश की जनता को आश्वस्त किया कि वह ५०० और १००० रुपए के नोट बेखौफ होकर बैंक में डाले और ढाई लाख रुपए तक आयकर विभाग कोई पूछताछ नहीं करेगा।शाह ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, जो प्रामाणिक करदाता है, उसे तकलीफ नहीं होगी। पांच सौ और १००० रुपए के नोट बेखौफ होकर दें। मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि ढाई लाख रुपए बेखौफ होकर (बैंक में) डाल दीजिए। इसकी कोई आयकर पूछताछ नहीं होगी। हां अगर ढाई लाख रुपए से ज्यादा रकम है तो निश्चित तौर पर हिसाब दें। नमक महंगा बिकने की अफवाहों और उससे मची अफरातफरी पर शाह ने कहा कि अफवाहें नहीं फैलनी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार ने जो व्यवस्था की है, उससे तीन चार दिन में सब ठीक हो जाएगा और तीन दिन से जनता को जो दिक्कतें आ रही हैं, जल्द दूर होंगी। जनता को जो तकलीफ है, मालूम है। इसे कम करने का प्रयास किया जा रहा है। कुछ दिन की तकलीफ से इस देश की अर्थव्यवस्था बदलेगी। हमने राजनीति को शुद्ध करने का प्रयास पवित्र मन से किया है। देश की जनता इसे अवश्य समझेगी।शाह ने कहा कि अगर ५०० और १००० रुपए के नोट बंद करने का फैसला गोपनीय नहीं होता तो उससे देश को फायदा नहीं होता। इस फैसले से ब़डे पैमाने पर काले धन की कटौती होने वाली है। इस फैसले से आतंकवादी निर्धन होंगे। नक्सल आंदोलन चरमराएगा। नकली नोट का चलन बंद हो जाएगा और हवाला कारोबार शून्य होगा। इस एक ही फैसले से ड्रग कारोबारी पस्त हो गए हैं। देशहित में इससे ब़डा फैसला नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि ५०० और १००० रुपए के नोट बंद करने के फैसले पर विपक्ष खुलकर बोल रहा है। एक सप्ताह का समय मांगा जा रहा है। आप (विपक्ष) बता दें कि एक सप्ताह में आपको क्या करना है? देश की जनता को बता दें। शाह ने कहा कि सरकार के फैसले से जाली नोट और काला धन बाहर निकलने वाला है। इससे महंगाई अपने आप कम होगी। खाने पीने की चीजों के ही नहीं बल्कि फ्लैट के दाम भी कम होंगे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

आम बजट में क्या सस्ता, क्या महंगा? यहां जानिए सबकुछ आम बजट में क्या सस्ता, क्या महंगा? यहां जानिए सबकुछ
भारत का मोबाइल फोन उत्पादन 2014-15 के 5.8 करोड़ इकाई से बढ़कर पिछले वित्त वर्ष में 31 करोड़ इकाई हो...
वैकल्पिक उर्वरकों को बढ़ावा देने के लिए पेश की जाएगी पीएम-प्रणाम योजना
बजट: अपर भद्रा परियोजना के लिए 5,300 करोड़ रु. की घोषणा, बोम्मई ने जताया आभार
अब 7 लाख रुपए तक की सालाना आय वालों को नहीं देना होगा टैक्स
एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों के लिए की जाएगी 38,800 शिक्षकों की भर्ती
बजट भाषण: 80 करोड़ लोगों को दिया मुफ्त अनाज, 2.2 लाख करोड़ रु. का हस्तांतरण
बजट 2023-24 को पिछले बजट की बुनियाद पर निर्माण की उम्मीद: सीतारमण