गुजरात ने कांग्रेस की सांप्रदायिक राजनीति को कड़वा सबक सिखाया : येड्डीयुरप्पा

गुजरात ने कांग्रेस की सांप्रदायिक राजनीति को कड़वा सबक सिखाया : येड्डीयुरप्पा

बेंगलूरु। पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीएस येड्डीयुरप्पा ने सोमवार को कहा कि गुजरात के मतदाताओं ने कांग्रेस को इसकी सांप्रदायिक राजनीति के लिए क़डवा सबक सिखाया है और भाजपा को रिकॉर्ड छठी बार राज्य की सत्ता सौंपी है। आज यहां पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब भारतीय राजनीति में ऐसी हालत में पहुंच चुकी है, जहां से इसके लिए खुद को उबारने के रास्ते न के बराबर बचे हैं। पूर्व में उम्मीद जताई गई थी कि राहुल गांधी पार्टी की तकदीर में कुछ बदलाव ला सकते हैं लेकिन गुजरात में वह बुरी तरह विफल रहे। उन्होंने कहा, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भारी चुनावी जीत की बधाई देता हूं्। गुजरात के मतदाताओं ने एक बार फिर से मोदी का समर्थन किया है और हिमाचल प्रदेश में भी कांग्रेस के भ्रष्ट शासन को खारिज कर दिया गया है। कर्नाटक के अगले विधानसभा चुनाव पर आज की इन दोनों जीत का असर निश्चित रूप से देखने को मिलेगा और भाजपा के लिए यहां २२४ सीटों में से १५० सीटों पर कब्जा बनाने के लक्ष्य को सफल बनाने का रास्ता खुलेगा। येड्डीयुरप्पा ने कहा कि किसी अन्य राज्य के विधानसभा चुनाव में कर्नाटक के मतदाताओं को भारी दिलचस्पी लेते हुए देखा गया। पश्चिम बंगाल की सत्ता में वामपंथियों की लंबी पारी के बाद भाजपा ने गुजरात की सत्ता में सबसे लंबा समय गुजारा है। वह भी तब, जब मोदी राज्य की राजनीति से निकलकर राष्ट्रीय राजनीति में जा चुके थे। इसके बाद भी वहां की जनता ने मोदी का पूरा समर्थन किया। येड्डीयुरप्पा ने मुख्यमंत्री सिद्दरामैया के इस आरोप को ’’बचकाना’’ करार दिया कि गुजरात में ईवीएम से हुए छे़डछा़ड के कारण भाजपा वहां बहुमत हासिल कर सकी है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के दावों से सिद्दरामैया आम जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News