द्रमुक उछाल रही है इंजीनियर की मौत का मामला : पलानीस्वामी

द्रमुक उछाल रही है इंजीनियर की मौत का मामला : पलानीस्वामी

चेन्नई। मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीस्वामी ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (द्रमुक) अपने राजनीतिक लाभ के लिए स़डक दुर्घटना में मरने वाले अनिवासी भारतीय इंजीनियर रघुपति की मौत का मामला उछाल रही है। कोयंबटूर के मूल निवासी के रघुपति नामक इंजीनियर की कथित तौर पर एमजीआर जन्म शताब्दी समारोह के लिए अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) द्वारा बनाए गए लक़डी के तोरण द्वार से टकराने के बाद मौत हो गई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि के रघुपति की मौत एक अफसोसजनक दुर्घटना थी लेकिन विपक्षी पार्टियां अपने लाभ के लिए इसका राजनीतिकरण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दुर्घटना स्थल के निकट लगे एक सीसीटीवी कैमरे में यह साफ देखा जा सकता है कि रघुपति की मौत एक ट्रक की चपेेट में आने के कारण हुई।सेलम जाने के क्रम में पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन राज्यभर में एमजीआर जन्मशताब्दी समारोह के सफल होने और लोगों द्वारा सरकार के इस कार्यक्रम का स्वागत करने को पचा नहीं पा रहे हैं इसलिए वह कट आउट के कारण मौत होने के लिए अन्नाद्रमुक को दोषी ठहराने की कोशिश कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में सरकार का जवाब न्यायालय को सौंपा जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी लोगों को इस बात की जानकारी है कि किस प्रकार द्रमुक के शासन काल में तमिल सम्मेलन के नाम पर जनता के पैसे की लूट की गई और इस सम्मेलन के लिए पंडाल और बैनर लगाने के नाम पर जनता के पैसे का दुरुपयोग किया गया। उन्होंने कहा कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश के एक प्रतिभावान इंजीनियर की दु:खद मौत का राजनीतिकरण किया जा रहा है। जब मुख्यमंत्री से यह पूछा गया कि क्या आरके नगर उपचुनाव में अन्नाद्रमुक के प्रत्याशी ई मधुसूदनन को जीत मिलेगी क्योंेकि छह महीने तक अन्नाद्रमुक ने इस विधानसभा क्षेत्र में टोपी (दिनाकरण ध़डे का चुनाव चिन्ह) के लिए मतदाताओं से वोट देने का अनुरोध किया था और अब यही पार्टी दो पत्तियों का निशान वापस मिलने के बाद दो पत्तियों के निशान पर वोट देने का अनुरोध कर रही है। उन्होंने कहा कि दो पत्तियों का निशान राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन की जीत का निशान है जिन्होंने गरीबों के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता ने भी दो पत्तियों के निशान की लोकप्रियता को बढाने के लिए कार्य किया था। इसलिए उन्हें उम्मीद है कि आरके नगर उपुचनाव में जनता दो पत्तियों के निशान के पक्ष में ही मतदान करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह ६ दिसंबर से आरके नगर उपचुनाव क्षेत्र में चुनाव प्रचार शुरु करेंगे।शनिवार को सेलम के अपने दौरे के दौरान उन्होंने तिरुक्कवंडनूर पालियात्तिल में लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्मित पुल का शुभारंभ किया। इसके बाद वह पुत्तेरीकौन्ड्रम पाल्लियातिल पहुंचे जहां उन्होंने स्थानीय लोगों की शिकायतें सुनीं और उनकी याचिकाएं स्वीकार कीं। मुख्यमंत्री ने लोगों को आश्वासन दिया कि सरकार उनकी समस्याओं का समाधान करने की दिशा में समुचित कदम उठाएगी। इस दौरे के दौरान सेलम में विकलांग दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि सरकार राज्य के दिव्यांग व्यक्तियों के कल्याण के लिए लगातार प्रयासरत है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News