हैदराबाद के बाद अब उन्नाव में दरिंदगी, पीड़िता को 90% तक जलाया, पांचों आरोपी गिरफ्तार

हैदराबाद के बाद अब उन्नाव में दरिंदगी, पीड़िता को 90% तक जलाया, पांचों आरोपी गिरफ्तार

crime against women

लखनऊ/भाषा। उन्नाव में आग के हवाले की गई दुष्कर्म पीड़िता को लखनऊ के श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां डॉक्टरों ने बताया है कि वह 90 फीसदी तक जल गई है और उसकी हालात बहुत गंभीर है।

सिविल अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट (एमएस) डॉ. आशुतोष दुबे ने बताया कि ‘पीड़िता को 90 फीसदी जली अवस्था में सुबह करीब सवा दस बजे अस्पताल लाया गया। उसे तुरंत बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया है जहां डॉक्टरों की एक टीम निरंतर उसकी निगरानी कर रही है। उसकी हालत बहुत ही गंभीर है। अभी कुछ भी कहना मुश्किल है।’

उनसे जब पूछा गया कि पीड़िता को क्या किसी अन्य बड़े अस्पताल में लखनऊ या बाहर भेजे जाने की संभावना है तो उन्होंने कहा कि इस बारे में मैं कुछ नही कह सकता हूं। हमारी डॉक्टरों की टीम बेहतर इलाज प्रबंधन में लगी है।

दुबे ने बताया कि पहली नजर में पीड़िता को देखने में लगता है कि उसे किसी ज्वलनशील पदार्थ डालकर जलाया गया है, बाकी यह जांच का विषय है।

गौरतलब है कि उन्नाव जिले में एक बलात्कार पीड़िता (20) को बृहस्पतिवार तड़के पांच लोगों ने जिंदा जलाने की कोशिश की। पुलिस के अनुसार वारदात बिहार थानाक्षेत्र के सिंदुपुर गांव की है। इस मामले में सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ... हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
नेहा की अपने पिता के साथ एक तस्वीर। साभार: niranjan.hiremath.75 फेसबुक पेज।
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना
बेंगलूरु में बोले मोदी- कांग्रेस ने टैक्स सिटी को टैंकर सिटी बना दिया
भाजपा के 'न्यू इंडिया' में असहमति की आवाजें खामोश कर दी जाती हैं: प्रियंका वाड्रा
कांग्रेस एक ऐसी बेल, जिसकी अपनी न कोई जड़ और न जमीन है: मोदी