पूर्वोत्तर राज्यों में अप्रैल-जुलाई के जीएसटी संग्रह में 30 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ोतरी

पूर्वोत्तर राज्यों में अप्रैल-जुलाई के जीएसटी संग्रह में 30 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ोतरी

जीएसटी

नई दिल्ली/भाषा। पूर्वोत्तर राज्यों में माल एवं सेवा कर संग्रह वित्त वर्ष 2019-20 के पहले चार महीनों में 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। यह वृद्धि विनिर्माण वाले बड़े राज्यों के मुकाबले अधिक है।

माल एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह में वृद्धि पूर्वोत्तर के सातों राज्यों में दर्ज की गई। यह राष्ट्रीय औसत 9 प्रतिशत के मुकाबले तीन गुना अधिक है।

निरपेक्ष रूप से कुल कर संग्रह चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-जुलाई में बढ़कर 3.56 लाख करोड़ रुपए रहा। पूर्वोत्तर राज्यों में नगालैंड में अप्रैल-जुलाई के दौरान सर्वाधिक 39 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई और 393 करोड़ रुपए रहा।

उसके बाद अरुणाचल प्रदेश का स्थान रहा जहां आलोच्य अवधि में यह 35 प्रतिशत बढ़कर 514 करोड़ रुपए रहा। सिक्किम में यह 32 प्रतिशत बढ़कर 370 करोड़ रुपए रहा।

आंकड़ों के अनुसार, मेघालय में जीएसटी संग्रह चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-जुलाई के दौरान 30 प्रतिशत बढ़कर 680 करोड़ रुपए, मिजोरम 27 प्रतिशत बढ़कर 350 करोड़ रुपए रहा। त्रिपुरा और मणिपुर में भी जीएसटी संग्रह में वृद्धि दर्ज की गई।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

शुगर लेवल बढ़ने के बाद केजरीवाल को इंसुलिन दिया गया शुगर लेवल बढ़ने के बाद केजरीवाल को इंसुलिन दिया गया
नई दिल्ली/दक्षिण भारत। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने के बाद उन्हें इंसुलिन की 'कम...
कोरे उपदेश
पेयजल और चारे की उपलब्धता सुनिश्चित की, अपनी ताकत पर भरोसे से चुनाव जीतेगी कांग्रेस: सिद्दरामैया
नेहा हत्याकांड की जांच सीआईडी को सौंपी, विशेष अदालत का गठन होगा: सिद्दरामैया
लोग बदलाव और रोजगार चाहते हैं, गरीबों की सरकार चाहते हैं: खरगे
सीएए: नड्डा बोले- नागरिकता देने की हिम्मत किसी में नहीं थी, सिर्फ मोदी ने किया काम
मोदी ने इस देश से आतंकवाद को समाप्त किया, नक्सलवाद समाप्ति के कगार पर है: शाह