तमिलनाडु में सड़कों के लिए 60 हजार करोड़ आवंटित : गडकरी

तमिलनाडु में सड़कों के लिए 60 हजार करोड़ आवंटित : गडकरी

चेन्नई। केन्द्रीय स़डक परिवहन एवं राजमार्ग तथा बंदरगाह मंत्री गुरुवार को चेन्नई के दौरे पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री पलानीस्वामी से मुलाकात की। इस अवसर पर उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार तमिलनाडु के विकास के लिए लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में स़डकों के विकास के लिए केन्द्रीय स़डक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय लगातार प्रयत्नशील है और राज्य में स़डकों के विकास के लिए ६० हजार करो़ड रुपए की राशि आवंटित की जा चुकी है।उन्होंने कहा कि ताम्बरम और वंडलूर के बीच जीएसटी रोड के निर्माण के लिए २२ करो़ड रुपए की राशि आवंटित की गई है। इसी प्रकार से वंडलूर और गुडुवांचेरी के बीच स़डक के निर्माण के लिए ५० करो़ड रुपए की राशि का आवंटन किया गया है। राज्य के अपने इस दौरे पर पहुंचे केन्द्रीय मंत्री ने बंदरगाहों, राष्ट्रीय राजमार्ग और जल संसाधन से जु़डी परियोजनाओं का भी जायजा लिया। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बैठक की और केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा एक साथ मिलकर शुरु की गई परियोजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की।उन्होंने बताया कि ताम्बरम और चेंगलपेट के बीच बनाए जा रहे इलिवेटेड कोरीडोर के लिए २,२५० करो़ड रुपए की राशि आवंटित की गई है। पूनामल्ली-मदुरावोयल के बीच बनाई जाने वाली स़डक के लिए १,५०० करो़ड रुपए और चेन्नई तथा नेल्लूर के बीच स़डक के निर्माण के लिए १००० करो़ड रुपए आवंटित किए जा चुके हैं। इसके साथ ही चेन्नई- बेंगलूरु राजमार्ग के लिए २०,००० करो़ड रुपए जारी किए गए हैं।देश में घटने वाली स़डक दुर्घटनाओं पर चिंता प्रकट करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि देश में हर वर्ष ५ लाख से अधिक स़डक दुर्घटनाएं घटती हैं। इस स्थिति में सुधार लाने के लिए हम स़डकों की स्थिति में सुधार लाने पर विचार किया जा रहा है। मौजूदा समय में प्रतिदिन २८ किलोमीटर स़डक पर परतें बिछाई जा रही है और हम इसमें तेजी लगाकर प्रतिदिन ४० किलोमीटर स़डक पर परत बिछाने के लक्ष्य के साथ कार्य कर रहे हैं और हमें उम्मीद है कि वर्ष २०२० तक हम इस लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल होंगे। उन्होंने बताया कि तमिलनाडु में स़डकों पर ६१ बैक स्पॉटों को चिन्हित किया गया है और इसमें सुधार करने के लिए हमने २,३०० करो़ड रुपए आवंटित किए हैं।केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार जल्द ही सागरमाला परियोजना के दूसरे चरण की भी शुरुआत करेगी। उन्होंने कहा कि मारुती और अन्य कारों को कंडाला बंदरगाह से एन्नूर बंदरगाह तक समुद्री रास्ते से पहुंचाने की दिशा में प्रयास किया जा रहा है। तुतुकुडी बंदरगाह में समुद्री रुकावटों को दूर करने और गहराई बढाने के लिए रेत निकालने का कार्य करने के लिए ३,००० करो़ड रुपए आवंटित किए गए हैं। हाल ही में समुद्र के रास्ते अशोक लीलैंड के १८५ ट्रकों को बांग्लादेश भेजा गया है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि तमिलनाडु में कृष की स्थिति सुधारने के लिए गोदावरी नदी के पानी को पेन्नार और कावेरी नदी में लाया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक वर्ष गोदावरी नदी का ३०० एमसीफिट पानी बर्बाद हो जाता है। प्राथमिक चरण में गोदावरी नदी में व्यर्थ होने वाले इस ३०० एमसीफिट पानी को लाने की योजना है। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री के साथ राज्य के मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीस्वामी, केन्द्रीय स़डक परिवहन एवं राजमार्ग एवं छोटे बंदरगाह राज्य मंत्री पोन राधाकृष्णन, राज्य के परिवहन मंत्री एमआर विजय भाष्कर और केन्द्र तथा राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News