महिला ने प्रधानमंत्री से कहा- ‘मैंने आपमें भगवान देखा है’, मोदी हुए भावुक

महिला ने प्रधानमंत्री से कहा- ‘मैंने आपमें भगवान देखा है’, मोदी हुए भावुक

नई दिल्ली/भाषा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को उस समय भावुक हो गए जब उनकी सरकार की जेनेरिक दवा कार्यक्रम की एक महिला लाभार्थी ने उनसे कहा कि ‘मैंने आपमें भगवान देखा है।’ देहरादून निवासी दीपा शाह को 2011 में पैरालिसिस हो गया था और वह जन औषधि दिवस के मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए प्रधानमंत्री से संवाद कर रही थीं।

दीपा शाह की आंखों से आंसू टपक गए और उन्होंने कहा, ‘मैंने भगवान को नहीं देखा है लेकिन मैंने आपमें भगवान देखा है।’ महिला ने जब अपनी टिप्पणी दोहराई तो मोदी भी भावुक होते हुए दिखे। महिला ने साथ ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री एवं अन्य को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने उनकी मदद की और कहा कि चिकित्सकों ने उन्हें बताया था कि उनका इलाज नहीं किया जा सकता।

दीपा शाह ने दवाओं की कीमत कम करने में किए गए प्रयासों के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया और कहा, ‘आपकी आवाज सुनकर मैं बेहतर हो गई हूं।’ भावुक प्रधानमंत्री कुछ पलों के लिए शांत हो गए और बाद में महिला से कहा कि यह उनका साहस था जिससे उन्हें अपनी बीमारी पर जीत मिली और उन्हें यह भावना जारी रखनी चाहिए।

महिला इस बारे में बता रही थीं कि 2011 में पैरालिसिस होने बाद उन्हें किस तरह से मुश्किलें हुईं और अब उन्हें सरकार की कम कीमत की जेनेरिक दवा कार्यक्रम से प्रति महीने 3,500 रुपए की बचत हो रही है। शाह जैसे ही अपने विचार व्यक्त करने के लिए उठीं तो मोदी ने उनसे बैठकर बोलने के लिए कहा क्योंकि वह खड़े होने में असहज महसूस कर रही थीं।

https://platform.twitter.com/widgets.js

मोदी ने महिला से कहा, ‘आपने बीमारी को अपनी आत्मशक्ति से परास्त किया है। आपका साहस आपका भगवान है और उसने ही आपको ऐसे बड़े संकट से निकलने की शक्ति दी। आपको अपना यह आत्मविश्वास बनाए रखना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि कुछ लोग अब भी जेनेरिक दवाओं के बारे में अफवाह फैला रहे हैं, अतीत के अनुभव को देखते हुए वे इसको लेकर हैरान हैं कि दवाएं इतनी सस्ती कैसे मुहैया हो सकती हैं और दवाओं में कुछ जरूर गड़बड़ी होगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, हालांकि आपको देखकर देशवासियों को विश्वास होगा कि जेनेरिक दवाओं में कुछ भी गलत नहीं है। ये दवाएं किसी भी अन्य दवा से निम्न गुणवत्ता की नहीं हैं। इन दवाओं को सर्वश्रेष्ठ प्रयोगशालाओं द्वारा प्रमाणित किया गया है। ये दवाएं भारत में निर्मित हैं और ‘मेक इन इंडिया’ और सस्ती हैं। उन्होंने कहा कि पूरे दुनिया से भारत से जेनेरिक दवाओं की मांग है और सरकार ने चिकित्सकों द्वारा मरीजों के लिए जेनेरिक दवाएं लिखना अनिवार्य किया है और जब तक जरूरी नहीं हो दूसरी दवा नहीं लिखी जाए।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

कभी विदेशों को जीतने के लिए आक्रमण नहीं किया, खुद में सुधार करके कमियों पर विजय पाई: मोदी कभी विदेशों को जीतने के लिए आक्रमण नहीं किया, खुद में सुधार करके कमियों पर विजय पाई: मोदी
नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां भगवान महावीर निर्वाण महोत्सव को संबोधित किया। इस अवसर पर...
हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना
बेंगलूरु में बोले मोदी- कांग्रेस ने टैक्स सिटी को टैंकर सिटी बना दिया
भाजपा के 'न्यू इंडिया' में असहमति की आवाजें खामोश कर दी जाती हैं: प्रियंका वाड्रा