गिरिराज का आरोप, शाहीन बाग में पल रहे ‘आत्मघाती बम हमलावर’

गिरिराज का आरोप, शाहीन बाग में पल रहे ‘आत्मघाती बम हमलावर’

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

नई दिल्ली/भाषा। केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आरोप लगाया कि शाहीन बाग में ‘आत्मघाती बम हमलावर’ पल रहे हैं, जहां सीएए के विरोध में कई हफ्तों से प्रदर्शन चल रहे हैं। गिरिराज ने प्रदर्शनकारियों पर निशाना साधते हुए एक महिला के भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया।

उन्होंने एक अन्य वीडियो साझा करते हुए कहा कि बच्चों के दिमाग में जहर भरा जा रहा है। इस वीडियो में कुछ बच्चे कथित रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां कर रहे हैं। गिरिराज ने आरोप लगाया, यह शाहीन बाग़ अब सिर्फ आंदोलन नहीं रह गया है ..यहां सूइसाइड बॉम्बर का जत्था बनाया जा रहा है। देश की राजधानी में देश के खिलाफ साजिश हो रही है।

इन टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने पत्रकारों से कहा कि सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान महिलाएं इस्लामी इतिहास की एक लड़ाई में मुसलमानों को मिली शहादत का बखान कर रही थीं और शाहीन बाग प्रदर्शन के दौरान बीमार जिस बच्चे की मौत हुई उसके परिजनों ने दावा किया कि उनका बच्चा शहीद हुआ है।

उन्होंने दावा किया कि शाहीन बाग में भारत को इस्लामिक देश बनाने को लेकर भाषण दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसने उन्हें पाकिस्तान के लिए जिन्ना के आंदोलन की याद दिला दी। शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे कई प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि भाजपा उनके प्रदर्शन को बदनाम कर रही है। उनका दावा है कि वह भेदभावपूर्ण संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पीओके भारत का है, उसे लेकर रहेंगे: शाह पीओके भारत का है, उसे लेकर रहेंगे: शाह
शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने तय किया है कि एससी-एसटी-ओबीसी के आरक्षण को हम हाथ भी नहीं लगाने...
जैन मिशन अस्पताल द्वारा महिलाओं के लिए निःशुल्क सर्वाइकल कैंसर और स्तन जांच शिविर 17 जून तक
राजकोट: गुजरात उच्च न्यायालय ने अग्निकांड का स्वत: संज्ञान लिया, इसे मानव निर्मित आपदा बताया
इंडि गठबंधन वालों को देश 'अच्छी तरह' जान गया है: मोदी
चक्रवात 'रेमल' के बारे में आई यह बड़ी खबर, यहां रहेगा ज़बर्दस्त असर
दिल्ली: आवासीय इमारत में लगी भीषण आग, 3 लोगों की मौत
राजकोट: एसआईटी ने बैठक की, पीड़ितों की पहचान के लिए डीएनए नमूने लिए