एआईएमआईएम सांसद के अभिनंदन प्रस्ताव पर शिवसेना का पलटवार, सर्जिकल स्ट्राइक की दी ‘चेतावनी’

एआईएमआईएम सांसद के अभिनंदन प्रस्ताव पर शिवसेना का पलटवार, सर्जिकल स्ट्राइक की दी ‘चेतावनी’

शिवसेना

मुंबई/दक्षिण भारत। महाराष्ट्र के औरंगाबाद नगर निगम में एआईएमआईएम सांसद इम्तियाज जलील के अभिनंदन प्रस्ताव पर शिवसेना के साथ घमासान बढ़ता जा रहा है। शिवसेना ने 15 जून को दोपहर का सामना के संपादकीय में उक्त प्रस्ताव को लेकर एआईएमआईएम, उसके प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और सांसद इम्तियाज जलील पर हमला बोला है।

पत्र के संपादकीय- ‘संभाजीनगर में उत्पात जारी… तो घर में घुसकर मारेंगे!’ में लिखा है कि संभाजीनगर में जहर एक बार फिर उबाल पर है। महाराष्ट्र में ही नहीं, संपूर्ण देश में जब हिंदुत्व की लहर चरम पर थी तब लोकसभा चुनाव में संभाजीनगर का निर्णय अजीब आया।

शिवसेना ने संपादकीय में कहा है कि देश विरोधी भूमिका निभाने वालों का अभिनंदन देशद्रोह है। संपादकीय में कहा गया है कि संभाजीनगर में ओवैसी पार्टी के सांसद जीतते ही जो उन्माद शुरू हुआ है, वह संतापजनक है।

शिवसेना ने मुखपत्र में चार बिंदुओं का भी उल्लेख किया है: 1. जलील औरंगाबाद के नहीं, बल्कि संभाजीनगर के सांसद हैं। इसे मान्य करें। 2. महापालिक में ओवैसी पार्टी के नगरसेवक वंदे मातरम् गाएं। 3. ट्रिपल तलाक के बारे में मोदी सरकार द्वारा ली गई मानवतावादी भूमिका का समर्थन करें। 4. कश्मीर से धारा-370 हटाना, देशभर में समान नागरिक कानून लागू करने जैसे राष्ट्रीय मुद्दे को समर्थन दें।

शिवसेना ने कहा ​है कि संभाजीनगर के असंख्य राष्ट्रवादी मुसलमानों का साथ उसे हमेशा मिला है। उसके बाद कहा कि लोकसभा चुनाव में नाम मात्र वोटों से पराभव हुआ, इसलिए संभाजीनगर का हिंदू नामर्द नहीं बन गया है। संपादकीय में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस तरह पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकियों को मारा था, वही आक्रमण हमारे लिए भी संभव है।

मुखपत्र में कहा है कि हिंदुओं पर अत्याचार करने वाले सभी लोगों के लिए यह चेतावनी है। ..​ शिवसेना-भाजपा की युति ने अपना धर्म नहीं छोड़ा है। शिवसेना ने कहा है कि संभाजीनगर की अस्मिता और हिंदू रक्षा के लिए उसका आंदोलन जारी रहेगा।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News