मप्र विधानसभा चुनाव से ​पहले कांग्रेस में ​रार, राहुल के सामने भिड़े ज्योतिरादित्य और दिग्गी

मप्र विधानसभा चुनाव से ​पहले कांग्रेस में ​रार, राहुल के सामने भिड़े ज्योतिरादित्य और दिग्गी

jyotiraditya and digvijay singh

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में इसी महीने के आखिर में ​विधानसभा चुनाव हैं और कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं। प्रदेश में नेताओं की गुटबाजी तो खूब सुर्खियों में रही है, अब वरिष्ठ नेताओं की रार भी सामने आ रही है। एक रिपोर्ट के अनुसार, चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह के बीच जोरदार बहस हो गई। दोनों नेता उस वक्त भिड़े जब बुधवार रात को पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हो रही थी। उसमें कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद थे।

रिपोर्ट में बताया गया है कि यह बैठक टिकट वितरण को लेकर उम्मीदवारों के चयन के लिए बुलाई गई थी। उस दौरान दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने पसंदीदा उम्मीदवारों को टिकट दिलाने के लिए जोर देने लगे। इसके बाद दोनों नेताओं में खूब बहस हुई और माहौल तनावपूर्ण हो गया। रिपोर्ट के मुताबिक, सिंधिया और दिग्विजय पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने नियंत्रण खो बैठे।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस पर टिप्पणी की है कि मध्य प्रदेश में टिकट बंटवारे को लेकर कांग्रेस के अंदर घमासान हो रहा है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह और सिंधियाजी के बीच गुत्थम-गुत्थी हो रही है। हाथापाई होने की नौबत आ गई। राहुल गांधीजी वहां मौजूद थे। दिग्विजय सिंह और सिंधियाजी के बीच में लगभग हाथापाई हो गई थी। राहुलजी देखते रहे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बीच चुनाव से पहले इस तरह के टकराव से पार्टी की फूट खुलकर सामने आ चुकी है। कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के सामने चुनावों के मद्देनजर पार्टी को मजबूत करने की चुनौती है। वरिष्ठ नेताओं में टकराव से कार्यकर्ताओं में अच्छा संदेश नहीं जाएगा। अभी तक कांग्रेस के नेता मीडिया के सामने यह बयान देते रहे हैं कि वे मध्य प्रदेश में एकजुट होकर चुनाव में उतरेंगे। पर्दे के पीछे हालात इससे अलग नजर आते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, सिंधिया और दिग्विजय की रार से राहुल भी नाराज हैं। विवाद सुलझाने के लिए उन्होंने तीन सदस्यीय समिति बनाई है, जिसमें अशोक गहलोत, अहमद पटेल और वीरप्पा मोइली को शामिल किया गया है। चर्चा है कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपनी अनदेखी से खफा हैं। वे पार्टी की रैलियों में शामिल नहीं होते। प्रदेश में कांग्रेस के पोस्टरों से भी उनकी तस्वीरें गायब हो रही हैं। पिछले दिनों उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने कहा कि वे चुनाव प्रचार से दूर रहते हैं, क्योंकि उनके बयान देने से कांग्रेस के वोट कटते हैं।

सोशल मीडिया पर दिग्विजय के नाम से एक चिट्ठी वायरल हो रही है जिसमें सोनिया गांधी को संबोधित करते हुए कहा गया है कि टिकट बंटवारे में गड़बड़ी हुई है। हालांकि बाद में दिग्विजय ने ही ट्वीट कर इस चिट्ठी को फर्जी करार दिया। मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव होंगे।

ये भी पढ़िए:
– पाकिस्तान में ईशनिंदा मामले में फांसी की सजा पाई ईसाई महिला रिहा, हुआ भारी बवाल
– गोलियों की गूंज में रिकॉर्ड किया वीडियो- ‘मौत से खौफ नहीं, मां तुम्हें प्यार करता हूं’
– विश्व बैंक की सूची में भारत की 23 पायदान लंबी छलांग, कारोबार करना हो रहा आसान
– इस धनतेरस पर राशि के अनुसार खरीदें ये चीजें, बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

आज सब्जी बेचने वाला भी डिजिटल पेमेंट लेता है, यह बदलता भारत है: नड्डा आज सब्जी बेचने वाला भी डिजिटल पेमेंट लेता है, यह बदलता भारत है: नड्डा
नड्डा ने कहा कि लालू यादव, तेजस्वी और राहुल गांधी कहते थे कि भारत तो अनपढ़ देश है, गांव में...
राजकोट: गेमिंग जोन में आग मामले में अब तक पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
पीओके भारत का है, उसे लेकर रहेंगे: शाह
जैन मिशन अस्पताल द्वारा महिलाओं के लिए निःशुल्क सर्वाइकल कैंसर और स्तन जांच शिविर 17 जून तक
राजकोट: गुजरात उच्च न्यायालय ने अग्निकांड का स्वत: संज्ञान लिया, इसे मानव निर्मित आपदा बताया
इंडि गठबंधन वालों को देश 'अच्छी तरह' जान गया है: मोदी
चक्रवात 'रेमल' के बारे में आई यह बड़ी खबर, यहां रहेगा ज़बर्दस्त असर