तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव का इस्तीफा, विधानसभा भंग करने की सिफारिश मंजूर

तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव का इस्तीफा, विधानसभा भंग करने की सिफारिश मंजूर

k chandrashekar rao

हैदराबाद। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने समय से पहले चुनाव के लिए बड़ा सियासी दांव चला है। उन्होंने राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से मुलाकात की और विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव सौंपा। इस प्रस्ताव को राज्यपाल ने मंजूर कर लिया है। इससे पहले राव ने मंत्रिमंडल की आपात बैठक बुलाई। उसमें विधानसभा भंग करने की सिफारिश की गई थी। अब यह तय हो गया कि तेलंगाना में समय पूर्व चुनाव होंगे।

इस विधानसभा का कार्यकाल 2 जून, 2019 तक था। राज्य में विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनावों के साथ होते। चर्चा है कि चंद्रशेखर राव ने यह फैसला सियासी नफे-नुकसान को देखकर लिया है। उनकी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सत्ता में थी। पार्टी नेतृत्व ने महसूस किया कि समय से पहले चुनाव उसे फायदा पहुंचाएंगे, इसलिए राव ने विधानसभा भंग करने का विकल्प चुना।

तेलंगाना में मई 2014 में विधानसभा चुनाव हुए थे। उस समय टीआरएस ने 119 में से 63 सीटें जीती थीं। हाल में चंद्रशेखर राव ने एक बड़ी रैली की थी। उसके बाद अटकलें लगाई जा रही थीं कि यह आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारी है। अब राव का यह फैसला जाहिर करता है कि वे विधानसभा भंग करने के विकल्प पर पहले ही तैयारी कर चुके थे। उन्होंने गुरुवार को मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई तो इस चर्चा को एक बार फिर बल मिला। अब तस्वीर साफ हो गई कि यह पूरी कवायद एक बार फिर विधानसभा चुनावों में जाने के लिए थी।

इस संबंध में तेलंगाना राष्ट्र समिति ने अपने ट्विटर अकाउंट पर जानकारी दी है कि मुख्यमंत्री राव तेलंगाना भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। चर्चा है कि अब तेलंगाना में विधानसभा चुनाव साल के आखिर में होने जा रहे चार राज्यों (राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम) के विधानसभा चुनावों के साथ होंगे। यह भी चर्चा है कि राव ज्योतिष में बहुत विश्वास करते हैं। वे 6 अंक को अपने लिए शुभ मानते हैं, इसलिए विधानसभा भंग करने के लिए 6 सितंबर का दिन चुना।

ये भी पढ़िए:
– अब मोबाइल फोन से ट्रैक्टर बुक कर सकेंगे किसान, इस कंपनी ने लॉन्च किया एप
– मुंह की बदबू से हैं परेशान तो आजमाएं ये आसान नुस्खे, सांसों में आएगी ताजगी
– पीक से रंगी दीवारें देख कलेक्टर ने मंगवाया बाल्‍टी-कपड़ा और खुद करने लगे सफाई
– एशियाड में कांस्य विजेता दिव्या ने केजरीवाल से कहा- ‘पहले मदद देते तो गोल्ड जीतकर आती’

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि बीजद के राज में न तो ओडिशा की संपदा सुरक्षित है और न ही सांस्कृतिक धरोहर ...
हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति का निधन
आज लोकसभा चुनाव के 5वें चरण का मतदान, अब तक डाले गए इतने वोट
मंदिर: एक वरदान
उप्र: रैली को बिना संबोधित किए ही लौटे राहुल और अखिलेश, यह थी वजह
कांग्रेस-तृणकां एक ही सिक्के के दो पहलू, बंगाल में एक-दूसरे को गाली, दिल्ली में दोस्ती: मोदी
कांग्रेस-सपा ने अनुच्छेद-370 को 70 साल तक संभाल कर रखा, जिससे आतंकवाद बढ़ा: शाह