प. बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
प. बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

कोलकाता/दक्षिण भारत। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच तकरार चर्चा में है। इसके पीछे राज्यपाल का उत्तर 24 परगना का दौरा अहम वजह माना जा रहा है। राज्यपाल धनखड़ का यहां दौरा प्रस्तावित था। उन्होंने धामाखाली क्षेत्र में सांसदों, विधायकों, विभिन्न जनप्रतिनिधियों, जिला मजिस्ट्रेट और नौकरशाहों के साथ बैठक की इच्छा जताई थी।

इस बैठक को लेकर उत्तर 24 परगना के डीएम का पत्र सामने आने के बाद विवाद गहरा गया। दरअसल उन्होंने पत्र में लिखा कि जब तक बैठक के लिए अनुमति नहीं मिलती, किसी को भी निमंत्रण नहीं भेजा जाएगा। पत्र में लिखा है कि अधिकारी इस बैठक में भाग नहीं ले सकेंगे, चूंकि वरिष्ठ अधिकारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ दौरे पर हैं।

वहीं, राज्यपाल धनखड़ ने अपनी बैठक में शामिल होने से सरकारी अधिकारियों के इनकार के बाद कहा कि उन्हें ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल में किसी प्रकार की सेंसरशिप है।

राज्यपाल ने एक समाचार एजेंसी को बताया, जिला अधिकारियों के पत्र देखकर मैं हैरान हूं। पत्रों में उन्होंने बैठक में शामिल होने में असमर्थता जताई है। वह भी तब जबकि उन्हें चार दिन पहले इस बाबत सूचना दी गई थी। पता नहीं, लेकिन ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल में किसी तरह की सेंसरशिप है। धनखड़ ने उनके इनकार को ‘असंवैधानिक’ बताया है।

राज भवन के सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल कार्यालय को सोमवार शाम दो जिलों के जिला मजिस्ट्रेटों से पत्र मिले जिनमें कहा गया था कि अधिकारी मुख्यमंत्री के उत्तर बंगाल के दौरे में व्यस्तता के चलते राज्यपाल की बैठकों में शामिल नहीं हो पाएंगे। धनखड़ ने कहा, इसके बावजूद मैं जिलों का अपना दौरा जारी रखूंगा। उन्होंने कहा, मैं राज्य सरकार के अंतर्गत नहीं हूं।

तृणमूल सरकार पर विजयवर्गीय का वार
राज्यपाल और तृणमूल सरकार के बीच विवाद सामने आने के बाद भाजपा के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इस पर​ टिप्पणी की है। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी की सरकार संविधान का पालन नहीं करती। उन्होंने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर यहां राज्‍यपाल को भी अनुमति लेनी पड़ रही है तो इससे जाहिर होता है कि मुख्यमंत्री बनर्जी का कानून, जो प. बंगाल में चलता है, वह देश का कानून नहीं है।