इस्पात सचिव ने एनएमडीसी के नए अनुसंधान एवं विकास केंद्र का दौरा किया

उन्होंने नवाचारों, सुस्थिर खनिज प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी और अनुसंधान और विकास केंद्र के भविष्य के रोडमैप की समीक्षा की

इस्पात सचिव ने एनएमडीसी के नए अनुसंधान एवं विकास केंद्र का दौरा किया

एनएमडीसी का अनुसंधान और विकास केंद्र खनिज अन्वेषण और विकास के क्षेत्र में एक नया अध्याय जोड़ेगा

हैदराबाद/दक्षिण भारत। इस्पात मंत्रालय के सचिव नागेंद्रनाथ सिन्हा ने शुक्रवार को हैदराबाद के पाटनचेरू में एनएमडीसी के नए अत्याधुनिक अनुसंधान और विकास केंद्र (आर एंड डी) का दौरा किया। उन्होंने नवाचारों, सुस्थिर खनिज प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी और अनुसंधान और विकास केंद्र के भविष्य के रोडमैप की समीक्षा की।

इस दौरान सीएमडी (अतिरिक्त प्रभार) अमिताभ मुखर्जी, निदेशक (तकनीकी) विनय कुमार, निदेशक (वाणिज्य) वी सुरेश, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी विश्वनाथ और एनएमडीसी के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

अधिकारियों से बात करते हुए नागेंद्रनाथ सिन्हा ने कहा, 'एनएमडीसी का अनुसंधान और विकास केंद्र खनिज अन्वेषण और विकास के क्षेत्र में एक नया अध्याय जोड़ेगा, जिससे सुस्थिर और नवीन प्रौद्योगिकी के विकास के अवसर पैदा होंगे। इससे खनन उद्योग को एक प्रगतिशील दृष्टिकोण प्राप्त होगा, जो अंतरराष्ट्रीय और घरेलू सहयोग के लिए एक प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करेगा।'

अमिताभ मुखर्जी ने कहा, 'एनएमडीसी नवाचार को अपनाकर और जिम्मेदार खनन को सशक्त बनाने वाले पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करके अग्रणी रहने का प्रयास करता है। हमारी नई अनुसंधान और विकास सुविधा अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से युक्त है और यह अयस्क बेनीफिशिएशन और खनिज प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी में परिवर्तनकारी हस्तक्षेप लाने के लिए प्रतिबद्ध विशेषज्ञों की टीम द्वारा संचालित है।'

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News