पाकिस्तान में साल के सबसे घातक आतंकी हमले में दो दर्जन जवानों की मौत

कुछ जवानों की हालत गंभीर है, जिससे मृतकों की संख्या बढ़ सकती है

पाकिस्तान में साल के सबसे घातक आतंकी हमले में दो दर्जन जवानों की मौत

Photo: PixaBay

पेशावर/दक्षिण भारत। आतंकवादियों को पालने वाला पाकिस्तान आज उन्हीं के हमलों से लहूलुहान हो रहा है। उसके ख़ैबर पख्तूनख्वा में डेरा इस्माइल खान के दरबान इलाके में आतंकवादियों के एक समूह ने सुरक्षा बलों की चौकी पर हमला कर 23 पाकिस्तानी जवानों को मौत के घाट उतार दिया। फौज की मीडिया मामलों की शाखा ने मंगलवार को इसकी पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि कुछ जवानों की हालत गंभीर है, जिससे मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।

स्थानीय अख़बार 'डॉन' की एक रिपोर्ट के अनुसार, 12 दिसंबर को सुबह छह आतंकवादियों ने सुरक्षा चौकी पर हमला किया। इस दौरान आतंकवादियों ने विस्फोटक से भरे वाहन से चौकी को टक्कर मारी और जोरदार धमाका कर दिया।

इस आत्मघाती धमाके से इमारत ढह गई, जिससे कई मौतें हुई हैं। बताया गया कि फौज के 23 जवानों की मौत हो गई। वहीं, छह आतंकवादी भी मारे गए हैं।

घटना से पाक फौज में हड़कंप मच गया और आस-पास के इलाकों में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। उसने 11 दिसंबर और 12 दिसंबर की रात को डेरा इस्माइल खान के दाराज़िंदा इलाके में एक खुफिया-आधारित ऑपरेशन में 17 आतंकवादियों को मार गिराने का दावा किया है। उस दौरान फौज के दो जवानों की भी मौत हो गई थी।

इन आतंकवादी हमलों की जिम्मेदारी तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) से संबद्ध एक नए समूह तहरीक-ए-जिहाद पाकिस्तान ने ली है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस