प्रवासी श्रमिकों पर हमले की कथित अफवाहों पर क्या बोले तमिलनाडु के राज्यपाल?

राजभवन ने इस बारे में तमिल, अंग्रेजी और हिंदी में ट्वीट किया

प्रवासी श्रमिकों पर हमले की कथित अफवाहों पर क्या बोले तमिलनाडु के राज्यपाल?

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बिहार के अपने समकक्ष नीतीश कुमार को आश्वासन दिया था कि राज्य में सभी प्रवासी मजदूर सुरक्षित हैं

चेन्नई/भाषा। तमिलनाडु के राज्यपाल आरएन रवि ने राज्य में प्रवासी श्रमिकों पर हमले की कथित अफवाहों के मद्देनजर रविवार को प्रवासी श्रमिकों की सभी आशंकाओं को दूर करने की कोशिश करते हुए कहा कि तमिलनाडु के लोग अच्छे और मिलनसार हैं।

राजभवन ने इस बारे में तमिल, अंग्रेजी और हिंदी में ट्वीट किया।

राजभवन ने ट्वीट किया, राज्यपाल ने उत्तर भारतीय श्रमिकों से आग्रह किया है कि वे तमिलनाडु में न घबराएं, न असुरक्षित महसूस करें। राज्यपाल ने कहा है कि तमिलनाडु के लोग बहुत अच्छे एवं मिलनसार हैं तथा राज्य सरकार उन्हें (प्रवासी श्रमिकों को) सुरक्षा प्रदान करने हेतु प्रतिबद्ध है।

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बिहार के अपने समकक्ष नीतीश कुमार को शनिवार को आश्वासन दिया था कि राज्य में सभी प्रवासी मजदूर सुरक्षित हैं और पुलिस ने अफवाह फैलाने के आरोप में एक दैनिक हिंदी समाचार पत्र के दो पत्रकारों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

अन्नाद्रमुक के अपदस्थ नेता ओ पन्नीरसेल्वम ने कहा कि राज्य सरकार प्रवासी श्रमिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कर्तव्यबद्ध है। उन्होंने यह भी कहा कि उसे तमिलनाडु स्थित कंपनियों में राज्य के युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्चित करना चाहिए।

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

राजस्थान में सामाजिक सुरक्षा पेंशन अब न्यूनतम 1,000 रुपए प्रतिमाह मिलेगी राजस्थान में सामाजिक सुरक्षा पेंशन अब न्यूनतम 1,000 रुपए प्रतिमाह मिलेगी
बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री ने मानवीय दृष्टिकोण रखते हुए राशि में बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी
कर्नाटकः जद (एस) विधायक एसआर श्रीनिवास ने दिया इस्तीफा, इस पार्टी में होंगे शामिल
कर्नाटकः रिश्वत मामले में न्यायालय ने भाजपा विधायक की अग्रिम जमानत के खिलाफ याचिका पर जवाब मांगा
राजस्थान सरकार ‘अनुपयोगी’, भाजपा जीतेगी अगला विधानसभा चुनावः सीपी जोशी
राहुल गांधी देश को बदनाम करने का कोई अवसर नहीं छोड़ना चाहतेः भाजपा
भारत में 134 दिन बाद कोरोना के उपचाराधीन मरीज़ों की संख्या 10 हजार के पार
आशंकाओं का निवारण करें