कर्नाटक: उच्च न्यायालय ने गजेंद्रगड-सोराब राजमार्ग के लिए जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया रद्द की

कर्नाटक: उच्च न्यायालय ने गजेंद्रगड-सोराब राजमार्ग के लिए जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया रद्द की

राज्य सरकार ने 16 मई, 2020 को एक अधिसूचना जारी कर राज्य राजमार्ग-136 के लिए प्रस्तावित जमीन अधिग्रहण के संबंध में सामाजिक असर मूल्यांकन (एसआईए) में छूट दी थी


बेंगलूरु/दक्षिण भारत/भाषा। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने हावेरी जिले के ब्याडगि तालुक में एक राज्य राजमार्ग को चौड़ा करने के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया रद्द कर दी है।

कई जमीन मालिकों द्वारा दायर पांच याचिकाओं को सुनवाई के लिए मंजूर करते हुए उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार द्वारा भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास एवं पुन:स्थापन (कर्नाटक) अधिनियम की धारा-34 में किए गए संशोधन को इन जमीन मालिकों की भूमि के अधिग्रहण की प्रक्रिया के संबंध में अवैध करार दिया। यह धारा उचित मुआवजे एवं पारदर्शिता के अधिकार से जुड़ी है।

राज्य सरकार ने 16 मई, 2020 को एक अधिसूचना जारी कर राज्य राजमार्ग-136 के लिए प्रस्तावित जमीन अधिग्रहण के संबंध में सामाजिक असर मूल्यांकन (एसआईए) में छूट दी थी।

सभी याचिकाओं में याचिकाकर्ताओं ने दावा किया कि वे हावेरी जिले के ब्याडगि तालुक में रहते हैं और शहर के बाजार वाले इलाके में कारोबार करते हैं।

हावेरी के उपायुक्त द्वारा 20 फरवरी 2019 को किए गए अनुरोध के अनुसार, कर्नाटक सरकार ने ब्याडगि शहर में गजेंद्रगड-सोराब राज्य राजमार्ग के चौड़ीकरण के उद्देश्य से याचिकाकर्ताओं की जमीन समेत अन्य भूमि के अधिग्रहण के लिए 18 सितंबर 2019 को मंजूरी दी थी।

इन जमीन मालिकों ने उच्च न्यायालय का रुख किया था। उच्च न्यायालय ने 12 मार्च 2020 के अपने अंतिम आदेश में प्राधिकारियों को याचिकाकर्ताओं तथा अन्य जमीन मालिकों की भूमि के अधिग्रहण के लिए कानून के अनुसार प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया था।

हालांकि, दो महीने बाद सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर एसआईए में छूट दी, जिसके बाद जमीन मालिकों ने फिर से उच्च न्यायालय का रुख किया।

मामले पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति एस आर कृष्ण कुमार ने हाल ही में दिए अपने फैसले में कहा, ‘कर्नाटक के 2015 के उक्त अधिनियम की धारा-34 में किया गया संशोधन अधिग्रहण प्रक्रिया के संबंध में लागू नहीं होता है।’

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा