मैसूरु दशहरा महोत्सव : महल परिसर पहुंचे हाथियों का हुआ पारंपरिक स्वागत

मैसूरु दशहरा महोत्सव : महल परिसर पहुंचे हाथियों का हुआ पारंपरिक स्वागत

मैसूरु। ऐतिहासिक मैसूरु दशहरा के प्रमुख आकर्षण जम्बो सवारी में शामिल होने वाले हाथियों का पहला जत्था गुरुवार को अर्जुन हाथी (जो स्वर्ण हौदा लेकर चलेगा) के नेतृत्व में मैसूरु महल परिसर पहुंचा जहां हाथियों का पारंपरिक और भव्य रूप से स्वागत किया गया। आठ हाथियों के पहले जत्थे में अर्जुन के अतिरिक्त बलराम, भीम, गजेन्द्र, अभिमन्यू, कावेरी, वरलक्ष्मी और विजया शामिल हैं। जिला प्रशासन ने इस पारंपरिक स्वागत समारोह के लिए व्यापक तैयारियां की थीं और इस अवसर पर जिला प्रभारी मंत्री एवं अन्य गणमान्य जनों की उपस्थिति में पारंपरिक विधान किए गए। आठ हाथियों का जत्था मैसूरु महल में पहले से मौजूद सात अन्य हाथियों के साथ शामिल होगा जो ३० सितम्बर को विजयादशमी के दिन आयोजित जम्बो सवारी जुलूस मंे भाग लेंगे। जिला प्रभारी मंत्री डॉ एचसी महादेवप्पा ने बताया कि इस वर्ष मैसूरु दशहरा महोत्सव का उद्घाटन चामुंडी हिल्स स्थित चामुंडेश्वरी मंदिर परिसर मंे प्रसिद्ध लेखक केएस निसार अहमद करेंगे। इस अवसर पर महादेवप्पा ने इलेक्ट्रॉनिक पार्किंग टिकट काउंटर का उद्घाटन करने के अतिरिक्त नए टिकट काउंटरों का शुभारंभ किया। उन्होंने महल से संबंधित नई वेबसाइट और उन्नत थ्रीडी वर्चुअल टूर का भी शुभारंभ किया। संवाददाताओं से बात करते हुए महादेवप्पा ने कहा कि राज्य सरकार इस वर्ष दशहरा महोत्सव पारंपरिक तरीके से मना रही है और इस वर्ष के लिए १५ करो़ड रुपए का बजट है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार रॉयल्टी का भुगतान कर राजपरिवार से स्वर्णहौदा की खरीद करेगी। साथ ही इस वर्ष आयोजन के दौरान बाहरी टीमों का सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय कलाकारों को मौका प्रदान किया जाएगा और सिर्फ राजमार्ग तक ही प्रकाशोत्सव सीमित रहेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ओर से उच्च स्तरीय समिति के सदस्य शीघ्र ही परंपरा अनुसार राजपरिवार को दशहरा महोत्सव के लिए आमंत्रित करेंगे।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News