मेघालय में दृष्टिहीन संगीतकारों के बैंड ने मचा रखी है धूम

मेघालय में दृष्टिहीन संगीतकारों के बैंड ने मचा रखी है धूम

मेघालय के इस बैंड के हैं खूब चर्चे

शिलॉन्ग/भाषा। कहते हैं कि काबिलियत किसी की मोहताज नहीं होती और इसे सच कर दिखाया है दृष्टिहीन संगीतकारों की एक मंडली ने जिनकी धुनों पर मेघालय के लोग थिरक रहे हैं। इस पर्वतीय राज्य में नाइट क्लब मालिकों और इवेंट मैनेजरों में उन्हें काम पर रखने के लिए होड़ मची हुई है।

इस बैंड को पहचान तब मिली जब राज्य चुनाव आयोग ने हाल ही में चुनाव पूर्व अभियानों के लिए उनके संगीत का सहारा लिया। संगीत शिक्षक और इस समूह के परामर्शदाता जोमा सैलियो ने पीटीआई-भाषा को बताया कि लाइट आफ्टर डार्क 20 वर्ष की आयु के आसपास के पांच सदस्यों का म्यूजिकल बैंड है।

उन्हें ना केवल मेघालय बल्कि पूरे क्षेत्र में उनके कार्यक्रमों के लिए काफी प्रशंसा मिल रही है। यहां एक सरकारी केंद्र में संगीत की शिक्षा देने वाले सैलियो ने यह भी बताया कि वह इस मंडली की धुनों को महसूस करने के लिए खुद कई बार आंखों पर पट्टी बांध लेते हैं।

उन्होंने बताया कि इन चार सदस्यों ने 2013 में बैंड बनाया। इनमें वानलमफरांग गायक, रिमिकी पाजुह मुख्य गिटारवादक है, दिलबर्टस्टार लिंगदोह बेसिस्ट और हिल्टर खोंगशई ड्रमर है।

पांचवें सदस्य प्लामिकी लापसाम इस साल की शुरुआत में गायक और गिटारवादक के तौर पर बैंड में शामिल हुआ। उन्होंने कहा, इन्हें सबसे बड़ा मौका तब मिला जब राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव पूर्व अभियानों के लिए बैंड को काम दिया।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पाकिस्तान में मारा गया सरबजीत का हत्यारा, अज्ञात हमलावरों ने किया ढेर पाकिस्तान में मारा गया सरबजीत का हत्यारा, अज्ञात हमलावरों ने किया ढेर
प्रतीकात्मक चित्र। साभार: PixaBay
राम नवमी पर भगवान श्रीराम को चढ़ाएंगे इतने लड्डुओं का भोग!
चुनाव आ रहा है तो मोदी रसोई गैस सिलेंडर के दाम कम करने की बातें कर रहे हैं: प्रियंका वाड्रा
दपरे ने स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रयास तेज किए
'हताश' कांग्रेस ऐसी घोषणाएं कर रही, जो उसके नेताओं को ही समझ नहीं आ रहीं: मोदी
भाजपा के घोषणा-पत्र में सिर्फ दो बार 'जॉब्स' का जिक्र, जबकि बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या: श्रीनेत
कांग्रेस बोली: भाजपा के 'संकल्प-पत्र' पर आपत्ति है, इसका नाम ... होना चाहिए!