अयोध्या को दिलाई जाएगी अंतर्राष्ट्रीय पहचान

अयोध्या को दिलाई जाएगी अंतर्राष्ट्रीय पहचान

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अयोध्या से बहुतों को चि़ढ है, लेकिन राम की जन्मभूमि होने के नाते यह हमारे लिए आस्था का केंद्र है। योगी ने मंगलवार को यहां से नगर निकाय चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत की। उन्होंने फैजाबाद के जीआईसी मैदान में आयोजित जनसभा में अयोध्या नगर निगम के साथ ही बीकापुर, गोशाईगंज, रुदौली और भदरसा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की बहुमत वाले बोर्ड गठन करने की अपील की। नगर निकाय चुनाव अभियान की शुरुआत अयोध्या से करते हुए उन्होंने एक संदेश भी दिया। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. महेन्द्र पाण्डेय के साथ आए योगी ने कहा कि अयोध्या को जो सम्मान मिलना चाहिए था, वह पिछली राज्य सरकारों ने नहीं दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या के सामने पहचान का संकट पैदा करने वालों को माफ नहीं किया जाना चाहिए। अयोध्या को उसका सम्मान मिलना ही चाहिए, इसीलिए कुर्सी सम्भालते ही उन्होंने अयोध्या और मथुरा को नगर निगम बना दिया। अयोध्या का विकास उसके सम्मान के अनुरुप ही होना चाहिए। योगी ने कहा कि अयोध्या के कारण ही देश-दुनिया में दीपावली की शुरुआत हुई, लेकिन अयोध्या में ही यह त्योहार समाप्ति की कगार पर था। उन्होंने तय किया था कि इस बार दीपावली में उनकी पूरी सरकार अयोध्या में रहेगी। इसका पालन करने के साथ ही १३५ करो़ड रुपए की योजनाओं का शिलान्यास किया गया। निकाय चुनाव के बाद और योजनाएं शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि सात पवित्र नगरी में पहली पुरी के रूप में जानी जाने वाली अयोध्या को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिलाई जाएगी और इसके लिए उसी के अनुरुप विकास किया जाएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि नगर निकायों में १५ वर्षांे तक पैसों का बंदरबाट किया गया। ठेके नगर विकास मंत्री के लखनऊ स्थित आवास से बांटे गए। जनता को सुविधाओं से वंचित किया गया। नगर निकायों की स्वतंत्रता पर प्रहार किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसे तो तीस फीसदी आबादी नगर निकाय क्षेत्रों में रहती है, लेकिन शेष ७० फीसदी आबादी की निर्भरता नगर इकाईयों के ईद गिर्द रहती है। केन्द्र और राज्य सरकार चाहते हैं कि नगर निकायों का समग्र विकास हो। दोनों सरकारों से आने वाला पैसों का उपयोग जनता के हित में हो। इसके लिए भाजपा के ही बोर्ड का गठन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शुद्ध पेयजल, जल निकासी, बिजली, स़डक, एलईडी स्ट्रीट लाइट और सार्वजनिक कार्यक्रमों की दृष्टि से पार्को आदि की अच्छी व्यवस्था के लिए सही बोर्डो का गठन जरुरी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश के कई शहरों को स्मार्ट सिटी के रुप में विकसित करवाना चाहते थे, लेकिन पूर्व राज्य सरकार ने सहयोग ही नहीं दिया। योगी ने आंक़डा प्रस्तुत करते हुए दावा किया कि पूर्व राज्य सरकार के असहयोग की वजह से प्रधानमंत्री आवास योजना का सटीक लाभ गरीब जनता को नहीं मिल सका। उन्होंने कहा कि आवास योजना का लक्ष्य पाने के लिए शहरी निकायों में भाजपा का बोर्ड बनाना जरुरी है। उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों का जमकर बखान किया। उन्होंने कहा कि शहरी जनता छुट्टा गोवंश और अतिक्रमण से परेशान है। इसके लिए क्रमश: सभी १६ नगर निगमों में गौशालाएं बनवाई जाएगी तथा फेरी नीति लागू किया जाएगी। जिले के एक नगर निकाय को दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर आदर्श नगर निकाय घोषित किया जाएगी। इसी तरह वार्डो का भी चयन किया जाएगी। अयोध्या में २४ घंटे बिजली,पानी देना उनकी सरकार की प्राथमिकता है। दुनिया में मंदिरों के शहर के रुप में मशहूर अयोध्या में सफाई और प्रसाधन की सटीक व्यवस्था होनी चाहिए। सरयू नदी की आरती के साथ ही इसकी पवित्र धारा को प्रदूषण से हर हाल में बचाया जाना चाहिए। उन्होंने चेहरे पर हमेशा मुस्कान बनाए रखने के लिए अयोध्या और उसके आस-पास के वासियों से भाजपा को जिताने की अपील की।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

तमिलनाडु के लिए पानी छोड़ने के कावेरी पैनल के निर्देश के खिलाफ अपील करेगी कर्नाटक सरकार तमिलनाडु के लिए पानी छोड़ने के कावेरी पैनल के निर्देश के खिलाफ अपील करेगी कर्नाटक सरकार
Photo: @siddaramaiah X account
25 जून को 'संविधान हत्या दिवस' घोषित किया गया
आंध्र प्रदेश: पूर्व मुख्यमंत्री जगन और दो वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों पर 'हत्या के प्रयास' का मामला दर्ज
पाकिस्तान में फिर पैदा हुआ आटे का संकट, लगेंगी लंबी कतारें!
लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद लोग अब जवाबदेही की मांग कर रहे हैं: खरगे
दिल्ली के काम रोकने के लिए झूठे केस में केजरीवाल को जेल में डालने की साज़िश रची गई: आप
केजरीवाल को सर्वोच्च न्यायालय से अंतरिम जमानत मिलने पर बोली 'आप'- 'सत्यमेव जयते'